78 Views
Kohli's century, India beat Sri Lanka by 67 runs in the first ODI

कोहली का शतक, भारत ने पहले वनडे में श्रीलंका को ६७ रन से हराया

गुवाहाटी, ११ जनवरी। विराट कोहली के करियर के ४५वें एकदिवसीय शतक के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत ने पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में मंगलवार को यहां श्रीलंका को ६७ रन से हराकर तीन मैच की श्रृंखला में १-० की बढ़त बनाई। कोहली ने दो जीवनदान का फायदा उठाते हुए ११३ रन की पारी खेली जिससे भारत ने छह विकेट पर ३७३ रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। कोहली ने ८७ गेंद में १२ चौके और एक छक्का जड़ा। सलामी बल्लेबाजों कप्तान रोहित शर्मा (८३) और शुभमन गिल (७०) ने भी अर्धशतक जडऩे के अलावा पहले विकेट के लिए १४३ रन जोड़कर भारत के बड़े स्कोर की नींव रखी।
श्रीलंका की टीम इसके जवाब में कप्तान दासुन शनाका (नाबाद १०८, ८८ गेंद, १२ चौके और तीन छक्के) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी और सलामी बल्लेबाज पथुम निसंका (७२) के अर्धशतक के बावजूद आठ विकेट पर ३०६ रन ही बना सकी। शनाका ने कासुन रजिता (नाबाद ०९) के साथ नौवें विकेट के लिए १०० रन की अटूट साझेदारी की। भारत की ओर से उमरान मलिक ने ५७ रन देकर तीन जबकि मोहम्मद सिराज ने ३० रन देकर दो विकेट चटकाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरे श्रीलंका की शुरुआत खराब रही और उसने छठे ओवर में २३ रन तक दो विकेट गंवा दिए।
पारी के चौथे ओवर में सिराज के खिलाफ अविष्का फर्नांडो (०५) ने गेंद को हवा में लहराकर मिड ऑफ पर हार्दिक पंड्या को कैच थमाया जबकि इस तेज गेंदबाज ने अगले ओवर में कुसाल मेंडिस (००) को भी बोल्ड किया। चरित असलंका भी २३ रन बनाने के बाद उमरान का शिकार बने। उन्होंने विकेटकीपर लोकेश राहुल को कैच थमाया। असलंका ने डीआरएस नहीं लिया लेकिन रीप्ले में दिखा कि गेंद उनके थाई पैड से टकराकर राहुल के हाथों में गई थी। निसंका और धनंजय डिसिल्वा (४७) ने चौथे विकेट के लिए ७२ रन जोड़कर पारी को संवारने की कोशिश की।
निसंका ने २१वें ओवर में युजवेंद्र चहल पर लगातार दो चौकों और एक रन के साथ ५७ गेंद में अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में टीम का रनों का शतक भी पूरा हुआ। रोहित ने इसके बाद मोहम्मद शमी को गेंदबाजी में वापसी कराई और उन्होंने कप्तान को निराश नहीं करते हुए धनंजय को विकेटकीपर राहुल के हाथों कैच करा दिया। धनंजय ने ४० गेंद का सामना करते हुए नौ चौके मारे। निसंका भी इसके बाद उमरान की उछाल लेती गेंद को पुल करने की कोशिश में अक्षर को आसान कैच दे बैठे। उन्होंने ८० गेंद की पारी में ११ चौके मारे।
वानिदु हसरंगा (१६) ने आते ही चहल की लगातार गेंदों पर दो छक्के और एक चौका मारा लेकिन अगली गेंद को सीधे श्रेयस अय्यर के हाथों में खेल गए। उमरान ने अगले ओवर में दिमुथ वेलालागे (००) को स्लिप में गिल के हाथों कैच कराके श्रीलंका का स्कोर सात विकेट पर १७९ रन किया। शनाका और चमिका करूणात्ने (१४) ने टीम का स्कोर २०० रन के पार पहुंचाया। पंड्या ने करूणात्ने को आउट करके इस साझेदारी को तोड़ा। श्रीलंका को अंतिम १० ओवर में जीत के लिए १५४ रन की दरकार थी। शनाका ने उमरान पर तीन चौके और फिर अक्षर पर दो रन के साथ ५० गेंद में अर्धशतक पूरा किया।
शनाका की उम्दा पारी के बावजूद श्रीलंका को अंतिम पांच ओवर में ११२ रन की जरूरत थी जिससे उसकी हार तय हो गई थी। शनाका ने आखिरी ओवर में शमी की पांचवीं गेंद पर चौके के साथ ८७ गेंद में दूसरा शतक पूरा किया। शमी ने तीसरी गेंद के बाद गेंदबाजी छोर पर गेंद फेंकने से पहले आगे निकलने पर शनाका को रन आउट कर दिया था लेकिन रोहित ने अपील वापस ले ली।
इससे पहले चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ भारत के पिछले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में ११३ रन की पारी खेलने वाले कोहली एक बार फिर अच्छी लय में दिखे। यहां चार साल पहले हुए एकमात्र एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में शतक (वेस्टइंडीज के खिलाफ १४०) जडऩे वाले भारत के पूर्व कप्तान कोहली का भाग्य ने भी पूरा साथ दिया। उन्हें ५२ और ८१ रन के स्कोर पर जीवनदान मिले। वह अब महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के विश्व रिकॉर्ड ४९ शतक से सिर्फ चार शतक दूर हैं। कोहली के नाम पर अब ७३ अंतरराष्ट्रीय शतक हो गए हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में २७ जबकि टी२० अंतरराष्ट्रीय में एक शतक जड़ा है।
कप्तान रोहित (६७ गेंद में ८३ रन, नौ चौके, तीन छक्के) ने फॉर्म में चल रहे इशान किशन और सूर्यकुमार यादव को नहीं खिलाने को लेकर हो रही आलोचना का जवाब देते हुए शुभमन गिल (६० गेंद में ७० रन, ११ चौके) के साथ मिलकर भारत को शानदार शुरुआत दिलाई। सपाट पिच पर रोहित को श्रीलंका के तेज गेंदबाजों के खिलाफ कोई परेशानी नहीं हुई। भारतीय कप्तान ने कई पुल शॉट खेले और ४१ गेंद में अर्धशतक पूरा किया। गिल ने कप्तान का अच्छा साथ निभाया और ५१ गेंद में अपना पांचवां अर्धशतक पूरा किया। शनाका ने गिल को पगबाधा करके भारत की सलामी जोड़ी के दबदबे को खत्म किया।
शतक के सूखे को खत्म करने की कोशिशों में जुटे रोहित भी इसके बाद पदार्पण कर रहे दिलशान मदुशंका की गेंद पर बोल्ड हो गए। श्रीलंका के गेंदबाजों ने इसके बाद कुछ देर रन गति पर अंकुश लगाकर ४०० रन से अधिक के स्कोर को भारत की जद से दूर किया। कोहली और श्रेयस अय्यर (२८) ने रन गति में इजाफ़े का प्रयास किया। अय्यर लय में दिखे और उन्होंने हसरंगा पर छक्का जड़ा लेकिन अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे। लोकेश राहुल (३९) भी अच्छी शुरुआत के बाद रजिता की गेंद पर बोल्ड हो गए। रजिता श्रीलंका के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने ८८ रन देकर तीन विकेट चटकाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top