74 Views

डॉक्यूमेंट्री में स्पॉट फिक्सिंग के दावे बेबुनियाद : पीसीबी

कराची। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने हाल ही में जारी डॉक्यूमेंट्री में राष्ट्रीय टीम पर लगाए गए स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा है कि टीवी चैनल द्वारा फुटेज दिए जाने के बाद ही मामले की जांच हो सकती है। अल जजीरा की नयी डाक्यूमेंट्री में कहा गया है कि पाकिस्तान के चार अंतरराष्ट्रीय मैच फिक्स थे। डॉक्यूमेंट्री में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और पाकिस्तान के कुछ खिलाड़ियों के स्पॉट फिक्सिंग में लिप्त होने का दावा किया था, लेकिन उन खिलाड़ियों के नाम की जानकारी नहीं दी गई।  पीसीबी ने कहा कि आईसीसी और उसकी अपनी भ्रष्टाचार निरोधक इकाई आरोपों की जांच कर रहे हैं। उसने बयान में कहा, ‘प्रसारक ने कोई सबूत पेश नहीं किए हैं।लिहाजा ये सभी आरोप बेबुनियाद हैं।’ इससे पहले एक स्वतंत्र विधिवेत्ता रिटायर्ड जज मिलन हामिद फारूक ने टेस्ट क्रिकेटर नासिर जमशेद पर लगाए गए 10 साल के प्रतिबंध को सही ठहराया। जमशेद को पीसीबी की ऐंटी करप्शन ट्राइब्यूनल ने स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया था ।  बता दें रविवार को अल जजीरा चैनल पर मैच फिक्सिंग के दावे को लेकर एक डॉक्यूमेंट्री रिलीज की गई। ‘क्रिकेट मैच फिक्सर्स: द मुनव्वर फाइल्स’ के शीर्षक से रिलीज इस डॉक्यूमेंट्री में दावा किया गया है कि इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने 7 मैचों में, ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने 5 मैचों में, पाकिस्तान के क्रिकेटरों ने 3 मैचों में और 1 अन्य देश के क्रिकेटर ने फिक्सिंग की। इनमें भारत-इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेला गया टेस्ट मैच, साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2011 में ही केप टाउन मं खेला टेस्ट मैच शामिल है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top