123 Views

विटमिन-डी की कमी से महिलाओं में बढ़ रहा मोटापा और डायबीटीज

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल की एक स्टडी के मुताबिक भारतीय महिलाओं में मोटापा और डायबीटीज के बढ़ते मामलों की वजह उनमें विटमिन डी की कमी है। इस स्टडी के मुताबिक भारत की 68.6 प्रतिशत महिलाओं में विटमिन-डी की कमी है जबकि 26 प्रतिशत महिलाओं में विटमिन डी अपर्याप्त मात्रा में पाया गया। आपको जानकर हैरानी होगी कि देश की सिर्फ 5.5 प्रतिशत महिलाएं ही ऐसी हैं जिनके शरीर में विटमिन डी पर्याप्त मात्रा में पाया गया।  टाइम्स के लिए सुष्मि डे ने नई दिल्ली से लिखा है कि इस स्टडी को एम्स, डायबीटीज फाउंडेशन ऑफ इंडिया ऐंड नैशनल डायबीटीज और ओबेसिटी ऐंड कलेस्ट्रॉल फाउंडेशन के अनुसंधानकर्ताओं ने मिलकर किया था। दरअसल, दुनियाभर में विटमिन डी की कमी प्रमुख पब्लिक हेल्थ समस्या है। अब तक हुई कई स्टडीज में यह बात सामने आ चुकी है कि भारत में बड़े पैमाने पर विटमिन डी की कमी पायी जाती है और इसका सीधा संबंध मोटापे से है। हालांकि इस ताजा स्टडी में सिर्फ महिलाओं पर फोकस किया गया था।

इस स्टडी में शामिल अनुसंधानकर्ता कहते हैं कि भारतीय महिलाओं में विटमिन डी की कमी इसलिए भी ज्यादा पायी जाती है क्योंकि ज्यादातर महिलाएं घर के अंदर बंद रहती हैं और उनके कपड़े पहनने के तरीके की वजह से सूर्य की रोशनी का एक्सपोजर उन्हें नहीं मिल पाता है जिससे सूर्य की रोशनी से मिलने वाला विटमिन डी महिलाओं को नहीं मिल पाता है। स्टडी के नतीजे बताते हैं कि उत्तर भारत की वैसी महिलाएं जो निम्न वर्ग के सामाजिक-आर्थिक बैकग्राउंड से आती हैं उनमें खासतौर पर विटमिन डी की कमी पायी जाती है। इस स्टडी के ऑथर और फोर्टिस सी-डॉक के चेयरमैन डॉ अनूप मिश्रा कहते हैं, ‘हमारा मानना है कि इस स्टडी के पर्यवेक्षण बेहद अहम हैं। भारतीयों में प्री-डायबीटीज से डायबीटीज तेजी से बिगड़ रहा है और मुझे लगता है कि एक बेहद आसान और सस्ता विटमिन-डी सप्लिमेंट महिलाओं में डायबीटीज को रोकने में कारगर साबित हो सकता है।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top