मिशन 2019 के लिए ‘अपनी’ योजनाओं को लेकर लोगों के बीच जाएगी बीजेपी

मेरठ। भारतीय जनता पार्टी विपक्ष के उन आरोपों की हवा निकालने की तैयारी में है, जिसमें कहा गया कि वह उधार के कामों पर वाहवाही लूट रही है। पार्टी और सरकार ने तय किया है कि जिन योजनाओं को मोदी सरकार ने खुद प्लान किया, शिलान्यास किया और रेकॉर्ड वक्त में पूरा होने पर शुभारंभ भी किया, उनका गुणगान बड़े पैमाने पर गांव, गली और शहरों में किया जाएगा। पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी सौभाग्य योजना के बल पर बीजेपी महागठबंधन को सियासी अंधेरा देने की तैयारी में है। इस योजना से लाभान्वित गांवों में बीजेपी ‘हटाया अंधियारा-मोदी लाए उजियारा’ के नारे संग जश्न मनाएगी। यूपी के करीब 1800 गांवों के 45 लाख घरों में पीएम मोदी की 2014 में बनी सरकार के बाद हर घर बिजली पहुंचाई गई है। इसी के साथ योजनाओं की लंबी फेहरिस्त है, जो भगवा टीम हर गांव हर घर लेकर जाएगी।
बीजेपी के एक सीनियर नेता के मुताबिक, कांग्रेस और एसपी समेत दूसरे राजनीतिक दल अक्सर एनडीए की सरकार पर यह आरोप लगता हैं कि मोदी और योगी सरकार यूपीए की सरकार में शुरू की गई योजनाओं का शुभारंभ करने के इंतजार में रहती है। उन्होंने कहा, ‘विपक्षी यह भूल गए कि एनडीए और यूपी सरकार ने तेजी से काम कराकर उन योजनाओं को गुणवत्तापरक पूरा किया। सरकार और पार्टी में अब एक राय बनी है कि 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद जितनी योजनाओं को शुरू किया गया, उनको पूरा करके जनता को समर्पित करके जनता को लाभ पहुंचाया गया और उनके बल पर आगे बढ़ा जाए।’ नेता ने आगे कहा, ‘जिस प्रदेश में जो योजना लागू है, उसको वहां चुनाव में उठाकर मोदी सरकार के विकास माडल को पेश किया जाए। जैसे यूपी में प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत 1800 गांवों के 45 लाख घरों में 2014 के बाद हर घर बिजली पहुंचाकर रोशनी की गई। उसका बड़े पैमाने पर प्रचार किया जाएगा। इन गांवों में दीपोत्सव सरीखा आयोजन पार्टी और सरकार की तरफ से कराने का फैसला हुआ है। पार्टी का प्लान है कि इन गांवों की रोशनी से विरोधी दलों (संभावित महागठबंधन) में सियासी अंधेरा भरा जाएगा।’
देश के हर घर में रोशनी (बिजली) पहुंचाने की योजना के तहत यूपी के 1800 गांवों के हर घर में बिजली पहुंचाने का दावा किया जा रहा है। वेस्ट यूपी के तीन जिलों के हर गांव में हर घर रोशनी पहुचाकर ‘सौभाग्यशाली’ घोषित किया गया है। योजना में वेस्ट यूपी के बाकी 11 जिलों में भी जल्द काम पूरा करके इन्हें सौभाग्यशाली घोषित किया जाएगा। पश्चिमांचल बिजली निगम की तरफ से योजना को परवान चढ़ाने के लिए एक सप्ताह पहले ही एक दिन में 364 मेगा कैंप लगाकर 4789 लोगों को लाभान्वित किया गया। गरीब हाउसहोल्ड उपभोक्ताओं को 599 नए कनेक्शन दिए। गरीब उपभोक्ताओं को छोड़कर अन्य 4190 उपभोक्ताओं को फायदा पहुंचाया गया। कैंपों में बुलंदशहर, मेरठ, हापुड़, नोएडा और बागपत के 119 कैंपों में 787,सहारनपुर, मुजफ्फनगर और शामली जिले के 94 कैंपों में 480, बिजनौर और रामपुर जिले के 74 कैंपों में 877, मुरादाबाद, संभल और अमरोहा जिले के 77 कैपों में 2645 कनैक्शन दिए गए थे।
पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड मेरठ के प्रबंध निदेशक आशुतोष निरंजन का कहना है कि सरकार की योजना प्राथमिकता के आधार पर जल्द हर जिले में लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड मेरठ के अंतर्गत मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, बुलंदशहर, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मुरादाबाद, सम्भल, अमरोहा, रामपुर और बिजनौर आते हैं। इन में हर घर रोशन करने का काम तेजी से चल रहा हैं।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने सौभाग्य योजना के तहत हर घर बिजली पहुंचाने का लक्ष्य 31 अक्टूबर तक तय किया है। सीएम की तरफ से बिजली निगम को निर्देश मिले हैं कि पीएम के पाइलट प्रॉजेक्ट में तेजी लाई जाए। कोशिश हो कि 31 अक्टूबर तक किसी गरीब का घर अंधेरे में न रहे। इसके लिए अफसरों से सघन अभियान चलाने के निर्देश भी दिए गए हैं। सीएम की सख्ती के बाद एमडी पावर कॉर्पोरेशन पश्चिमांचल आशुतोष निरंजन ने इस काम में लगी संस्थाओं को माइक्रोप्लान तैयार करके लक्ष्य पूरा करने और हर दिन शिविर लगाकर हर घर बिजली पहुंचाने के निर्देश दिए। इस मामले पर पश्चिमी यूपी के बीजेपी अध्यक्ष अश्विनी त्यागी का कहना है, ‘पार्टी ने खुद की योजनाओं के सहारे विकास का असल मॉडल जनता को दिखाना तय किया है। ताकि जनता यह तय कर सके कि हम अपने वादे पर खरे उतरे या नहीं। सौभाग्य समेत योजनाओं की लंबी फेहरिश्त बीजेपी के पास है।’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top