इमरान खान को भेजे गए मोदी के ‘शुभकामना पत्र’ में बातचीत शुरू करने का जिक्र नहीं : भारत

August 20, 2018

नई दिल्ली। भारत ने सोमवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के उस दावे को खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान को लिखे पत्र में दोनों देशों के बीच बातचीत शुरू करने की पेशकश की है।  सरकार में उच्चपदस्थ सूत्रों ने टाइम्स नाउ को यह पुष्टि की कि पीएम मोदी ने इमरान खान को पत्र लिखा है लेकिन यह बधाई पत्र एवं शुभकामना संदेश है जिसमें दोनों देशों के बीच बातचीत शुरू करने का जिक्र नहीं है।

इससे पहले कुरैशी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इमरान खान को पत्र लिखा है। कुरैशी के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी ने अपने पत्र में ‘बातचीत पर जोर दिया है।’ कुरैशी मुंबई में 26 नवंबर 2008 को हुए हमलों के वक्त भी पाकिस्तान के विदेश मंत्री थे। जिओ टीवी के मुताबिक कुरैशी ने कहा, ‘भारत के साथ लगातार एवं बाधारहित बातचीत करने की जरूरत है। हम पड़ोसी हैं। हमारे बीच लंबे समय से मुद्दे लंबित हैं। हम दोनों इन समस्याओं के बारे में जानते हैं लेकिन बातचीत शुरू करने के अलावा हमारे पास और कोई विकल्प नहीं है। हम जोखिम नहीं उठा सकते।’  विदेश मंत्री ने जोर देकर कहा, ‘अपनी वास्तविकताओं को ध्यान में रखते हुए भारत और पाकिस्तान को आगे बढ़ना होगा।’ कुरैशी ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान को लिखे पत्र में दोनों देशों के बीच बातचीत शुरू करने का संकेत दिया है। विदेश मंत्री ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच मसले जटिल हैं और उनका समाधान निकालने में हमें बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है लेकिन हमें बातचीत अवश्य शुरू करनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘हमें यह स्वीकार करना होगा कि हम परेशानियों का सामना कर रहे हैं। हमें यह जरूर मानना चाहिए कि कश्मीर एक समस्या है।’