15 Views

जोमेटो की बल्ले-बल्ले : वित्तवर्ष की तीसरी तिमाही में १२५ करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज, राजस्व ५३ प्रतिशत बढ़ा

नई दिल्ली। फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो ने कहा कि चालू वित्तवर्ष की तीसरी तिमाही में १२५ करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया है, जो पिछले साल की समान तिमाही की तुलना में ३९० करोड़ रुपये का सुधार है। कंपनी के लिए समेकित समायोजित राजस्व वित्तवर्ष २४ की तीसरी तिमाही में साल-दर-साल ५३ प्रतिशत बढ़कर ३,६०९ करोड़ रुपये हो गया। इसके बी२सी व्यवसायों में सकल ऑर्डर मूल्य (जीओवी) सालाना आधार पर ४७ प्रतिशत बढ़कर १२,८८६ करोड़ रुपये हो गया। वार्षिक आधार पर, ज़ोमैटो ने अपने बी२सी व्यवसायों में जीओवी के ५०,००० करोड़ रुपये को पार कर लिया।
जोमैटो के सह-संस्थापक और सीईओ दीपिंदर गोयल ने कहा, हमारी समेकित टॉपलाइन (समायोजित राजस्व) ४० प्रतिशत + योय की हमारी घोषित अपेक्षा से ऊपर सार्थक रूप से बढ़ रही है। वास्तव में, इस बिंदु पर हम उम्मीद करते हैं कि टॉपलाइन सालाना ५० प्रतिशत से अधिक की दर से बढ़ती रहेगी। बीएसई पर कारोबार के अंत में जोमैटो का शेयर १४२ रुपये पर बंद हुआ। वार्षिक समायोजित ईबीआईटीडीए लाभ अब १,०००+ करोड़ रुपये है। हमें उम्मीद है कि मार्जिन विस्तार और जीओवी वृद्धि दोनों से पूर्ण लाभ में और सुधार आएगा।
गोयल ने कहा कि ब्लिंकिट की जीओवी ग्रोथ १०३ फीसदी लगातार जारी है। उन्होंने कहा, नुकसान में गिरावट जारी है और हम वित्तवर्ष २५ की पहली तिमाही में या उससे पहले समायोजित ईबीआईटीडीए ब्रेक-ईवन के अपने मार्गदर्शन को पूरा करने की राह पर हैं। तिमाही में कैश बैलेंस २५४ करोड़ रुपये बढ़ गया। जोमैटो के सीएफओ अक्षंत गोयल ने कहा, यह हमारे नकदी शेष में लगातार तीसरी तिमाही में वृद्धि थी। दीपिंदर ने कहा कि उन्हें नवप्रवर्तन और व्यवधान उत्पन्न करने के बारे में चिंतित रहना जारी रखना होगा, अन्यथा कोई और ऐसा करेगा।
उन्होंने कहा, हमारे व्यवसाय में बहुत सारे नवाचार पर्दे के पीछे होते हैं – जो ग्राहक के लिए स्पष्ट नहीं हो सकते हैं, लेकिन जो हमारे प्लेटफ़ॉर्म को अधिक मजबूत बनाते हैं और इसलिए ग्राहक अनुभव में सुधार करते हैं।
ब्लिंकिट के सीईओ अलबिंदर ढींडसा ने कहा कि उनकी उम्मीदों के अनुरूप, जीओवी में २८ प्रतिशत (तिमाही पर) वृद्धि हुई, जो कि तिमाही में कई त्योहारों और अवसरों के कारण मांग में मजबूत वृद्धि के कारण हुई।
ढींडसा ने बताया, हालांकि अधिकांश जीओवी वृद्धि ऑर्डर वॉल्यूम के नेतृत्व में थी, इसका एक हिस्सा औसत ऑर्डर मूल्य में वृद्धि से भी प्रेरित था, जो इलेक्ट्रॉनिक्स, त्योहारी जरूरतों जैसे उच्च एएसपी (औसत बिक्री मूल्य) श्रेणियों के उच्च मिश्रण से लाभान्वित होता रहा। पिछले महीने के अंत में कंपनी की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी जोमैटो पेमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड (जेडपीपीएल) को ‘ऑनलाइन पेमेंट एग्रीगेटर’ के रूप में काम करने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) से प्राधिकरण का प्रमाणपत्र प्रदान किया गया था।

Scroll to Top