41 Views

गाजा युद्ध पर स्पेन के पीएम की टिप्पणी पर भड़का इजरायल, राजनयिक संबंध पर पड़ा असर

मैड्रिड ,०३ दिसंबर। इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू द्वारा अपने स्पेनिश समकक्ष पेड्रो सांचेज की टिप्पणियों की आलोचना के बाद स्पेन और इजरायल के बीच राजनयिक संबंध खराब हो गए हैं। गाजा में संघर्ष के बारे में स्पेनिश राज्य टीवी नेटवर्क आरटीवीई पर सांचेज ने कहा कि हमास ने इजरायल में जो किया वह घृणित है।
उन्होंने स्पेन द्वारा हमले की निंदा और अस्वीकृति पर जोर देते हुए कहा कि हमास को गाजा में अपने सभी बंधकों को बिना किसी शर्त के मुक्त करना होगा। हालांकि, सांचेज ने यह भी कहा कि इजरायल को अपने कार्यों को अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानून पर आधारित करना चाहिए। उन्होंने कहा, हम जो तस्वीरें देख रहे हैं, और पीडितों की बढ़ती संख्या, जो मर रहे हैं, को देखते हुए मुझे इस बात को लेकर संदेह है कि वे (इजरायल) अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून को पूरा कर रहे हैं।
स्पेन के प्रधानमंत्री ने कहा कि गाजा में संघर्ष को समाप्त करने के लिए एक राजनीतिक समाधान की आवश्यकता है और समाधान फिलिस्तीनी राज्य है। उन्होंने तर्क दिया कि इजरायल पहले से ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त देश है और अमेरिका और यूरोपीय देशों को भी फिलिस्तीन को मान्यता देनी चाहिए।
सांचेज के बयान के जवाब में, इजरायली प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा कि स्पेनिश राजदूत को फटकार के लिए इजरायली विदेश मंत्रालय में बुलाया गया था, उन्होंने इस टिप्पणी को शर्मनाक बताया।
एक सप्ताह में यह दूसरी बार है जब इजरायल में स्पेन के राजदूत को फटकार के लिए बुलाया गया है।
पिछले हफ्ते, मिस्र और गाजा के बीच रफा सीमा चौकी का दौरा करते समय गाजा पर इजरायली हमले की आलोचना करने के बाद इजरायल ने सांचेज पर आतंकवाद का समर्थन करने का आरोप लगाया, जिसके बाद स्पेन ने मैड्रिड में इजरायल के राजदूत को बताया कि आरोप विशेष रूप से गंभीर है।
इजरायली विदेश मंत्री एली कोहेन ने एक्स पर पोस्ट किया, इजरायल अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार कार्रवाई कर रहा है और कार्रवाई करना जारी रखेगा। यह युद्ध तब तक जारी रखेगा जब तक कि सभी बंधक वापस नहीं आ जाते और गाजा से हमास का सफाया नहीं हो जाता।

 

Scroll to Top