120 Views
India is going to become the leading country in the world of chess: Carlsen

शतरंज की दुनिया का अग्रणी देश बनने वाला है भारत : कार्लसन

नयी दिल्ली, ०१ जून। पांच बार के विश्व चैंपियन मैगनस कार्लसन ने देश से उभरती प्रतिभाओं की सराहना करते हुए कहा है कि भारत जल्द ही शतरंज की दुनिया का अग्रणी देश बनने वाला है।
कार्लसन ने ग्लोबल चेस लीग (जीसीएल) की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा, मुझे लगता है कि भारत में अभी बहुत कुछ सही हो रहा है। यह दुनिया का अग्रणी शतरंज देश बनने वाला है, कुछ ही समय की बात है।
कार्लसन को २१ जून से दो जुलाई के बीच दुबई में होने वाले जीसीएल के लिये ‘आइकन खिलाड़ी’ चुना गया है। यह आयोजन टेक महिंद्रा और अंतरराष्ट्रीय शतरंज महासंघ (फिडे) के तत्वावधान में किया जा रहा है। जीसीएल अपने तरह की पहली शतरंज लीग है जहां दुनिया भर के सितारे छह अलग-अलग टीमों का प्रतिनिधित्व करेंगे।
कार्लसन ने जीसीएल के बारे में कहा, इसका (जीसीएल) हिस्सा बनना मेरे लिये एक रोमांचक अवसर है। ऐसा कुछ पहले बोर्ड पर नहीं किया गया है। मैं इस प्रारूप के भविष्य को देखने के लिये उत्साहित हूं।
उन्होंने कहा, मैं भारतीय खिलाडिय़ों की रोमांचक युवा पीढ़ी के साथ और उनके खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने के लिये उत्सुक हूं। इस टूर्नामेंट के बारे में वास्तव में अच्छी चीजों में से एक यह है कि पुरुष और महिलाएं एक ही मंच पर एक दूसरे के खिलाफ प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।
लीग में छह टीमें डबल राउंड-रॉबिन प्रारूप में कुल १०-१० मैच खेलेंगी। लीग चरण के समापन के बाद शीर्ष दो टीमें दो जुलाई, २०२३ को फाइनल के लिये चलीफाई करेंगी और विजेता को विश्व चैंपियन फ्रेंचाइजी टीम का ताज पहनाया जाएगा।

Scroll to Top