87 Views

कैनेडा में बढ़ रहा मंदी का ख़तरा, साल के निचले स्तर पर पहुंचा टीएसएक्स

टोरंटो,०४ अक्टूबर। कैनेडा की आर्थिक सेहत लगातार बिगड़ रही है। विश्व की १०वीं सबसे बड़ी इकॉनमी रहा कैनेडा ट्रूडो के शासन काल में निरंतर कमजोर हो रहा है। शेयर बाजार ही नहीं कैनेडा के विनिर्माण सेक्टर में भी मंदी का आशंका बन गई है।
स्प्रंग इंवेस्टमेंट मैनेजमेंट के चीफ माइकल स्प्रंग ने इस बात की आशंका जाहिर की है कि कैनेडा की ओर मंदी का खतरा बढ़ रहा है। बात सिर्फ शेयर बाजार तक सीमित नहीं है। कोरोना के बाद से मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर भी रास्ते पर नहीं आ पाया है। प्रोडक्शन और नए ऑर्डर दोनों पर असर दिख रहा है। ये ऐसे कारक हैं, जो कैनेडा की इकॉनमी को धीरे-धीरे चोट पहुंचा रहे हैं। अगर भारत के साथ संबध बिगड़े तो हालात और खराब हो सकते हैं। भारत कैनेडा की इकॉनमी में अहम रोल निभाता है।
रिपोर्ट में कैनेडा की आर्थिक सेहत का पूरा ब्यौरा दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक कैनेडा के मेन स्टॉक्स एक्सचेंज टोरंटो स्टॉक एक्सचेंज यानी टीएसएक्स १.८६ फीसदी लुढ़क गया है। टीएसएक्स का एसएंडपी/टीएसएक्स कंपोजिट एंडेक्स ३६४.०९ अंक गिरकर १९,१७७.१८ पर पहुंच गया। ये पिछले एक साल का सबसे निचला स्तर है। सितंबर में बेंचमार्क इंडेक्स में भी ३.७ फीसदी की गिरावट थी।
रिपोर्ट के मुताबिक कैनेडा का पीएमआई इंडेक्स पिछले महीने गिरकर ४७.५ पर पहुंच गया। कैनेडा की जीडीपी दूसरी तिमाही में घट गई। देश की मैटेरियल सेक्टर, माइनिंग और फर्टिलाइजर्स सेक्टर के अलावा सोने में २.८ फीसदी तक की गिरावट आई है। देश का पावर सेक्टर, यूटिलीटी सेक्टर सब गिरता जा रहा है। जाहिर है कि प्रोडक्शन, मैन्चुफैक्चरिंग जैसे सेक्टर प्रभावित होंगे तो जीडीपी पर असर पड़ेगा।

Scroll to Top