33 Views

मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग नियमों का पालन करने में विफल रहने के लिए सीआइबीसी पर लगाया १.३ मिलियन डॉलर का जुर्माना

ओटावा,०८ दिसंबर। कैनेडा की वित्तीय खुफिया एजेंसी फिनट्रैक का कहना है कि उसने मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग उपायों का अनुपालन न करने के लिए सीआईबीसी के खिलाफ १.३ मिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया है।
मंगलवार को आरबीसी के ७.४ मिलियन डॉलर के जुर्माने के बाद कैनेडा के वित्तीय लेनदेन और रिपोर्ट विश्लेषण केंद्र ने इस सप्ताह यह दूसरा जुर्माना लगाया है।
फिनट्रैक का कहना है कि उसने यह जुर्माना सीआईबीसी द्वारा एक संदिग्ध लेनदेन रिपोर्ट प्रस्तुत करने में विफलता पर लगाया है, जबकि संदेह के आधार थे कि यह मनी लॉन्ड्रिंग या आतंकवादी गतिविधि से संबंधित था।
आपको बता दें कि फिनट्रैक हर साल बैंकों, बीमा कंपनियों, मनी ट्रांसफर बिजनेस और अन्य से लाखों सूचनाओं को इलेक्ट्रॉनिक रूप से छानकर अवैध गतिविधियों से जुड़े धन का पता लगाने की कोशिश करता है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि एजेंसी को एक उदाहरण मिला जहां सीआईबीसी ने एक संदिग्ध लेनदेन रिपोर्ट दर्ज नहीं की, जबकि उसे पता था कि ग्राहक को गिरफ्तार कर लिया गया था और उस पर आपराधिक आरोप लगाया गया था। एजेंसी की समीक्षा में २०,००० नमूने में से एक हजार से अधिक ऐसे उदाहरण मिले, जहां मनी ट्रांसफर से जुड़ी जानकारी अधूरी थी।
सीआईबीसी के प्रवक्ता टॉम वालिस का कहना है कि प्रशासनिक मामले अपेक्षाकृत कम संख्या में लेनदेन से संबंधित हैं और बैंक वित्तीय अपराधों को रोकने और पता लगाने के लिए अपनी भूमिका निभाना, जांच करना जारी रखेगा।

Scroll to Top