107 Views

सीबीआई चीफ आलोक वर्मा की ‘छुट्टी’ पर राहुल गांधी ने ली चुटकी, राफेल से जोड़ पीएम नरेंद्र मोदी पर बोला हमला

नई दिल्ली। सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के फैसले के खिलाफ विपक्ष नरेंद्र मोदी सरकार पर हमलावर हो गया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वर्मा के खिलाफ लिए गए फैसले को राफेल से जोड़ते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा। बुधवार को उन्होंने राजस्थान के हड़ौती में एक रैली में कहा कि कल रात चौकीदार ने सीबीआई निदेशक को हटा दिया। उन्होंने कहा कि सीबीआई निदेशक ने राफेल सौदे पर सवाल उठाए थे और उनको हटा दिया गया।  राहुल गांधी ने कहा कि देश का संविधान आज खतरे में है। उन्होंने एक बार फिर अपने आरोप को दोहराते हुए कहा कि पीएम ने अनिल अंबानी के लिए राफेल सौदे में दखलअंदाजी की। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार ने इस सौदे का कॉन्ट्रैक्ट HAL को दिया गया था। यूपीए सरकार के दौरान राफेल की कीमत 526 करोड़ रुपये प्रति विमान थी।

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाया कि केंद्र सरकार भारतीय एजेंसियों को ध्वस्त कर रही है और उन्हें ICU में धकेल दिया गया है। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने आरोप लगाया कि केंद्र की मोदी सरकार घोटालों की पोल खुलने से डरी हुई है। उन्होंने कहा, ‘मोदी सरकार और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने अपना विशिष्ट गुजरात मॉडल केंद्र और सीबीआई में लागू कर दिया है। इन्होंने सीबीआई को कहीं का नहीं छोड़ा। राफेल घोटाले से घबराई सरकार ने यह कदम उठाए हैं।’ कांग्रेस ने 7 आरोपों के जरिए केंद्र की मोदी सरकार को घेरा है।  कांग्रेस ने आरोप लगाया कि राफेलफोबिया से बचने के लिए और अपने सब गलत कारनामों को बचाने के लिए आज असंवैधानिक रूप से सीबीआई निदेशक को सस्पेंड कर दिया गया है। यह गैरकानूनी है। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के उस फैसले को भी नकार दिया है जिसमें शीर्ष अदालत ने सीबीआई चीफ के कार्यकाल को दो वर्ष का बताया था। केंद्र ने चालाकी से सीबीआई निदेशक को जबरन छुट्टी पर भेज दिया है। सीबीआई चीफ एक अधिकारी पर उगाही जैसे गंभीर अपराध की जांच करवा रहे थे और उन्हें ही हटा दिया गया। सरकार अभियुक्त के समर्थन में खड़ी है। अभियोजक को ही हटा दिया गया।  कांग्रेस ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी सीबीआई के कामकाज में हस्तक्षेप करते हैं। सिंघवी ने आरोप लगाया कि पीएम अधिकारियों को बुलाते हैं और फौजदारी प्रक्रिया में हस्तक्षेप करते हैं।  कांग्रेस ने आरोप लगाया कि बीजेपी सीवीसी के अधिकारक्षेत्र पर देश को गुमराह कर रही है। सीवीसी के पास किसी को हटाने या नियुक्त करने का अधिकार नहीं है। बीजेपी ने जो भी ज्ञान इसपर दिया है यही ज्ञान उन्होंने नोटबंदी, नीरव मोदी और वित्तीय घाटे के बारे में भी दिया था। सीवीसी एक सुपरवाइजरी एजेंसी है, जो सीबीआई को सुपरवाइज करती है। बीजेपी देश को गुमराह कर रही है।  कांग्रेस ने पूछा कि क्या केंद्र ने सीबीआई चीफ को छुट्टी पर भेजने से पहले विपक्ष के नेता या चीफ जस्टिस को बुलाया? कांग्रेस नेता ने कहा कि मूर्ख बनाने की कोशिश की जा रही है। क्या आप डर रहे थे कि कमिटी आपकी बात नहीं मानेगी? राफेलमेनिया के कारण ऐसा हो रहा है। सरकार घपलों को कवर करने के लिए ऐसा कर रही है।

कांग्रेस ने पीएम मोदी पर हमला बोला और उनके फरवरी 2014 और अप्रैल 2014 के बयानों का उल्लेख किया। सिंघवी ने कहा कि तब गुजरात के सीएम रहे मोदी ने कहा था कि हर संस्थाओं का मिसयूज करना यूपीए सरकार का रवैया बन गया है। सिंघवी ने कहा कि आज यही बात माननीय पीएम पर भी लागू होती है। झूठ छिपाने के लिए पीएम ने सीबीआई पर हमला बोला है और हम उसका आज प्रत्यक्ष प्रमाण देख रहे हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top