शिक्षकों के बीच राहुल गांधी का संघ पर हमला, यह देश एक विचारधारा से नहीं चलेगा

नई दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को शिक्षकों के एक कार्यक्रम को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में राहुल गांधी ने जहां एजुकेशन सिस्टम को लेकर अपने विचार रखे, वहीं सवाल-जवाब के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघपर हमला भी बोला। राहुल गांधी ने कहा कि वह समझ रहे हैं कि शिक्षकों पर एक खास विचारधारा का हमला हो रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि एक अरब से अधिक आबादी वाला देश किसी एक विचारधारा से नहीं चलेगा। राहुल गांधी ने माल्या, राफेल का जिक्र करते हुए मोदी सरकार पर करप्शन का भी आरोप लगाया। राहुल गांधी ने अपने संबोधन में भारतीय शिक्षा व्यवस्था पर अपनी राय रखी। राहुल गांधी ने कहा कि एजुकेशन सिस्टम को अपनी आवाज उठाने का स्पेस दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षक जो अपनी मेहनत कर रहे हैं उनका भविष्य सुरक्षित होना चाहिए ताकि क्लास रूम में भी हार्मनी बनी रहे। कांग्रेस अध्यक्ष ने तेजी से बढ़ती फीस को लेकर भी चिंता जताई और कहा कि छात्रों को आज के समय में केवल इसी बात की चिंता है।

राहुल गांधी ने अपने संबोधन में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के एक बयान का भी जिक्र किया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि ओबामा ने कहा था कि अमेरिकियों को भारतीय स्टूडेंट्स से प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। राहुल ने कहा कि ऐसा करके ओबामा ने भारतीय शिक्षकों की तारीफ की थी। राहुल गांधी ने पब्लिक इंस्टिट्यूट को भी तरजीह देने की बात की। उन्होंने कहा कि मैं प्राइवेट इंस्टिट्यूट के खिलाफ नहीं हूं। लेकिन सुपर स्ट्रक्चर पर पब्लिक इंस्टिट्यूशंस होने चाहिए। राहुल गांधी ने शिक्षकों के लिए आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर भी निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा कि, ‘मुझे समझ में आता है कि शिक्षकों पर एक खास विचारधारा का हमला हो रहा है। आप इस लड़ाई में अकेले नहीं हैं। किसान, मजदूर सबका यही दर्द है। एक अरब से अधिक आबादी का देश एक विचारधारा से नहीं चल सकता।’ एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि संघ प्रमुख मोहन भागवत कहते हैं कि राष्ट्र को संगठित करेंगे। राहुल ने कहा कि मैं पूछता हूं कि आप कौन हैं जो राष्ट्र को संगठित करेंगे। क्या आप ईश्वर हैं? राष्ट्र खुद को स्वयं संगठित करेगा। यह आपका एक दिवास्वप्न है जो आने वाले दिनों खत्म हो जाएगा।’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि संघ और मोदी सरकार अब संस्थानों पर कब्जा जमाने की दिशा में बढ़ रही है। राहुल ने कहा कि भारतीय शिक्षा व्यवस्था को अपनी आवाज और विचार व्यक्त करने की इजाजत होनी चाहिए लेकिन आज इसपर भी संकट है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top