विंडीज फॉलोऑन को मजबूर, गांगुली-धोनी से आगे निकले कप्तान विराट

नई दिल्ली राजकोट टेस्ट में भारतीय गेंदबाज टी-20 स्पेशलिस्ट मानी जाने वाली वेस्ट इंडीज टीम की पहली पारी सिर्फ 48 ओवरों में 181 रनों पर समेटने में कामयाब रही। उसके लिए सिर्फ रोस्टन चेज (53) और मीमो पॉल (47) ही कुछ संघर्ष कर सके। अन्य कोई भी बल्लेबाज भारतीय बोलिंग के सामने अधिक देर तक नहीं टिक सका। खासकर आर. अश्विन की गेंद के आगे। उन्होंने 37 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए, जबकि दो विकेट मोहम्मद शमी के नाम रहे। उमेश यादव, रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के खाते में एक-एक विकेट आया। पहली पारी के आधार पर भारत के पास 468 रनों की बढ़त है। भारतीय टीम ने वेस्ट इंडीज को फॉलोऑन खेलने का मौका दिया है। इसके साथ ही बैटिंग में मैच दर मैच रेकॉर्ड बनाने वाले विराट कोहली ने कप्तानी में भी एक बड़ी उपलब्धि हासिल की। उनकी कप्तानी में यह 5वां मौका है, जब विपक्षी टीम फॉलोऑन खेलने के लिए मजबूर हुई है। उन्होंने बंगाल टाइगर सौरभ गांगुली और एमएस धोनी को पीछे छोड़ा। गांगुली और धोनी की कप्तानी में 4-4 बार विपक्षी टीम फॉलोऑन खेलने के लिए मजबूर हुई थी, जबकि सुनील गावसकर और राहुल द्रविड़ की कप्तानी में ऐसा 3-3 बार हुआ। सबसे बेहतर रेकॉर्ड मोहम्मद अजहरुद्दीन के नाम है। उनकी कप्तानी में ऐसा 7 बार हुआ है।   यही नहीं, यह भारतीय टीम की पहली पारी के आधार पर किसी भी टीम के खिलाफ तीसरी सबसे बड़ी बढ़त है। भारत ने 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ मीरपुर में पहली पार के आधार पर 492 रनों की बढ़त ली थी, जबकि 2011 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ उसे 478 रनों की बढ़त मिली थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top