92 Views

अफगानिस्तान में प्रॉक्सी वार में शामिल है पाकिस्तान : क्रिस

ओटावा,3 अगस्त। कैनेडा के पूर्व मंत्री और अफगानिस्तान में राजदूत रह चुके क्रिस अलेक्जेंडर ने पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए अफगानिस्तान में ‘प्रॉक्सी वॉर’ में शामिल होने का आरोप लगाया है। अलेक्‍जेंडर ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को ‘बेशर्म और झूठा’ करार देते हुए दुनिया से अपील की है कि तालिबान को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, क्रिस ने तालिबान आतंकियों के पाकिस्‍तान सीमा पर घुसपैठ के इंतजार में लगे जमावड़े की तस्‍वीर पोस्‍ट करते हुए कहा कि अगर कोई मानता है कि पाकिस्‍तान- अफगानिस्‍तान के खिलाफ आक्रामक कार्रवाई में शामिल नहीं है तो वह भी इस ‘प्रॉक्सी वॉर’ में सह-अपराधी है।
क्रिस ने कहा कि पाक प्रधानमंत्री इमरान खान पूरी तरह से धोखेबाज है। जिनके अंदर कोई क्षमता नहीं है और वह दशकों से तालिबान को बढ़ावा देने में शामिल रहे हैं।
वहीं कैनेडा के पूर्व मंत्री के इस बयान पर पाकिस्‍तान सरकार भड़क गई है। पाकिस्‍तान ने क्रिस के बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि उनका बयान जमीनी हकीकत से मेल नहीं खाता है। बता दें कि पाकिस्‍तान के इस बयान पर क्रिस ने भी पलटवार किया। उन्‍होंने कहा कि पीएम इमरान खान और पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के नाजायज, निराधार और भ्रामक दावे उन सभी के साथ बेइमानी है जिन्‍होंने अफगान शांति और स्थिरता पर काम करने को कहा था।
गौरतलब है कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री और मंत्रियों पर कई अफगान नेता तालिबान की खुलकर मदद करने का आरोप लगा चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कई पाकिस्‍तानी सैनिक और पाकिस्तान समर्थित आतंकी अफगानिस्‍तान में जंग लड़ते हुए देखे गए हैं। अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति अशरफ गनी ने भी इमरान खान के सामने ही पाकिस्‍तान की पोल खोलकर रख दी थी। इस बीच अफगानिस्‍तान के उप राष्‍ट्रपति अमरुल्‍ला सालेह ने रविवार को कहा था कि तालिबान को पाकिस्‍तान से पूरी मदद मिल रही है।
गौरतरलब है कि पिछले दिनों पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि अफगानिस्तान की बिगड़ती स्थिति के लिए उनके देश के खिलाफ बार-बार आरोप लगाना बेमतलब है। प्रधानमंत्री ने कहा था कि इस्लामाबाद हमेशा शांति और अपने पड़ोसी के लिए एक समावेशी सरकार की स्थापना चाहता है, क्योंकि यह दोनों देशों के लिए हितकर है। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि पाकिस्तान तालिबान का प्रवक्ता नहीं है और ना की इस संगठन से उनका कोई लेना-देना है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top