‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी’ के जवाब में ‘हर-हर कांग्रेस, घर-घर कांग्रेस’

September 20, 2018

सागवाड़ा। राजस्थान के चुनावी रण में सत्तारूढ़ बीजेपी को मात देने के लिए कांग्रेस पार्टी ने अब उसी के नारे को हथियार के रूप में इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। बीजेपी के ‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी’ के नारे के जवाब में कांग्रेस पार्टी ने ‘हर-हर कांग्रेस, घर-घर कांग्रेस’ का नारा दिया है। राज्य में चुनावी बिगुल फूंकने के लिए गुरुवार को आदिवासी बहुल डुंगरपुर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का भी इसी नारे के साथ जोरदार स्वागत हुआ। यही नहीं इस संकल्प महारैली में राहुल की हालिया कैलास मानसरोवर यात्रा को देखते उन्हें शिवभक्त बताया गया और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ‘हर-हर बम बम’ का नारा भी लगाया। सांगवाड़ा में कांग्रेस की इस संकल्प महारैली के साथ ही राज्य में राहुल गांधी अपना चुनाव प्रचार शुरू करने जा रहे हैं। राजस्थान में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इसको देखते हुए कांग्रेस बीजेपी को हराने के लिए नित नए तरीके अपना रही है।
गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में भी राहुल गांधी का शंखनाद, शिव भक्ति के पोस्टर, गणेश प्रतिमा के साथ स्वागत हुआ था। राहुल के इस रोड शो के जरिए कांग्रेस ने साफ कर दिया था कि वह गुजरात के बाद मध्य प्रदेश के चुनावी रण में भी सॉफ्ट हिंदुत्व के रास्ते पर चलेगी। अब राजस्थान में ‘हर-हर बम बम’ के नारे ने यह स्पष्ट कर दिया है कि यहां भी कांग्रेस सॉफ्ट हिंदुत्व को ही अपना हथियार बनाएगी। राहुल गांधी आदिवासी बहुल दक्षिण राजस्थान की इस यात्रा के दौरान आदिवासियों को फिर से कांग्रेस के पाले में लाने के लिए मेहनत करेंगे। हालांकि, राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि विधानसभा चुनाव में ‘कमल’ को छोड़कर आदिवासियों का ‘हाथ’ थामना इतना आसान नहीं होगा। एक समय में कांग्रेस का गढ़ कहा जाने वाला आदिवासी बहुल उदयपुर, बांसवाड़ा, डुंगरपुर और प्रतापगढ़ जिला वर्ष 2013 के चुनाव में भगवामय हो गया और बीजेपी को शानदार जीत मिली। राहुल गांधी ने आदिवासियों की ‘घर वापसी’ के लिए राजस्थान में अपनी पहली चुनावी सभा के लिए इस क्षेत्र को चुना है। यही नहीं इस इलाके से राहुल गांधी का जज्बाती रिश्ता भी है। पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की अस्थियां बनेश्वर धाम में सोम-माही नदियों में प्रवाहित की गई थीं। माना जाता है कि बनेश्वर धाम आदिवासियों का ‘महाकुंभ’ है। राहुल गांधी की रैली के लिए विशाल स्टेज तैयार किया गया है।
राहुल गांधी यहां पर इस इलाके की 45 लाख की आदिवासी आबादी के प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे। बता दें कि वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने इस क्षेत्र की 16 आदिवासी सीटों में से 14 पर जीत हासिल की थी। बीजेपी यह प्रदर्शन तब था जब तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस इलाके को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने के लिए 1200 करोड़ रुपये का प्रॉजेक्ट शुरू कराया था। ऐसे में आदिवासियों को फिर से कांग्रेस में लाना राहुल गांधी के लिए चुनौतीपूर्ण होगा।