मालदीव ने ब्रिटिश राज की मूर्तियां तोड़ीं, बताया इस्लाम के लिए अपमानजनक

September 26, 2018

कोलंबो/ माले। मालदीव के निवर्तमान राष्ट्रपतिअब्दुल्ला यामीन + ने ब्रिटिश कालीन कुछ मूर्तियों को इस्लाम के लिए अपमानजनक बताया। इसके बाद पुलिस ने कुल्हाड़ी और अन्य उपकरणों की मदद से मंगलवार को उन्हें तोड़ दिया। यामीन ने जुलाई में ही इन मूर्तियों को नष्ट करने का आदेश दिया था, लेकिन उसका पालन शुक्रवार को किया गया। जेसन डिकैरस टेलर द्वारा बनाई गई मूर्तियों को मालदीव + के एक रिसॉर्ट में आधे डूबे हुए धातु के कंटेनर में रखा गया था। मालदीव का आधिकारिक धर्म इस्लाम मूर्ति निर्माण को प्रतिबंधित करता है। जुलाई में जब इन मूर्तियों को लगाया गया था तभी कुछ धर्मगुरुओं ने इसकी आलोचना की थी। हालांकि, इन मूर्तियों का इस्लाम से कोई नाता नहीं है। यामीन ने जुलाई में कहा था कि ‘कोरालारियम’ सीरिज की इन मूर्तियों के खिलाफ लोगों की भावनाओं को देखते हुए उन्होंने इन्हें नष्ट करने का फैसला लिया है। हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि जुलाई से अब तक इन मूर्तियों को नष्ट क्यों नहीं किया गया था। राष्ट्रपति चुनाव + में यामीन की हार के तुरंत बाद इन्हें तोड़ा जा रहा है, इसे लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। सरकारी मीडिया की ओर से पोस्ट विडियो में मूर्तियों को नष्ट करते हुए दिखाया गया है।