जज की पत्नी, बेटे को गनर ने मारी थी गोली, इलाज के दौरान हुई मौत

October 14, 2018
  • गुरुग्राम। गुरुग्राम गोलीकांड में अडिशनल सेशंस जज कृष्ण कांत शर्मा के गनर की गोली से घायल हुईं उनकी पत्नी और बेटे ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। सेक्टर-49 स्थित आर्केडिया मार्केट में शनिवार को जज कृष्ण कांत के गनर ने उनकी पत्नी रितु और बेटे धुव्र को दोपहर करीब 30 बजे गोली मार दी थी। दिन के उजाले में बाजार में मौजूद अच्छी खासी भीड़ के सामने ही जज की पत्नी और बेटे को गनर ने गोली मारी गई। आरोपी कॉन्स्टेबल की पहचान महिपाल (32) के रूप में हुई है और उसे घटना के कुछ घंटों के भीतर ही गिरफ्तार कर लिया गया था। इस घटना के एक चश्मदीद अमित ने बताया कि वह छोले कुल्चे खाने के लिए मार्केट में रुके थे। उसी दौरान उन्होंने सड़क के दूसरी ओर महिला (जज की पत्नी) के चिल्लाने की आवाज सुनी। उधर देखा तो एक पुलिसकर्मी महिला को थप्पड़ मार रहा था। 3-4 थप्पड़ मारकर वह महिला के बाल खींचने लगा। अमित ने रेहड़ी वाले को रुपये दिए, तभी गोली की आवाज आई। उन्होंने देखा कि पुलिसकर्मी ने महिला को दो गोलियां मारीं, जिसके बाद वह नीचे गिर गईं। अमित के मुताबिक, इसके बाद सिपाही पीछे घूमा और एक लड़के (जज के बेटे) से हाथापाई की। लड़के ने भी बचने के लिए पुलिसकर्मी से हाथापाई की। इसी दौरान सिपाही ने हाथ में मौजूद पिस्टल से उसके सिर में ही गोली मार दी। एक-एक कर 3 गोलियां मारी गईं, जिससे लड़का भी नीचे गिर गया। दोनों के नीचे गिरने पर पुलिसकर्मी कार को पीछे लाया। उसने लड़के को खींचकर कार में डालने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुआ। इस दौरान वह लगातार बड़बड़ा रहा था और गाली दे रहा था। दो नाकाम कोशिशों के बाद वह कार के साथ फरार हो गया लेकिन बाद में पुलिस उसे पकड़ने में सफल रही।
  • घटनास्थल से महिपाल के जाने के बाद वहां मौजूद लोगों ने ध्रुव के पास पहुंचने की हिम्मत जुटाई। भीड़ में से कुछ लोग जख्मी रितु और ध्रुव की मदद के लिए आगे आए। लोगों ने ध्रुव के सिर पर कपड़ा बांधकर बह रहे खून को रोकने की कोशिश की। इसके बाद दोनों घायलों को नजदीकी पार्क अस्पताल में ऐडमिट कराया गया। हालत में सुधार न होने पर उन्हें मेदांता अस्पताल में शिफ्ट किया गया। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। दोनों का दाहसंस्कार कल हिसार में किया जाएगा। आरोपी महिपाल ने अभी तक इस घटना के पीछे का कारण नहीं बताया है। इस बारे में डीसीपी ईस्ट गुरुग्राम सुलोचना गजराज ने कहा, ‘आरोपी गनमैन से पूछताछ के लिए उसे रिमांड पर लिया जा सकता है। फिलहाल यह जानकारी नहीं है कि गनर ने जज की पत्नी और बेटे को गोली क्यों मारी।’