95 Views
Ottawa Military Regiment's Deputy Commanding Officer Accused Of Sexual Offenses - Canadian Military Forces May Take Disciplinary Action After Court's Decision

ओटावा मिलिट्री रेजीमेंट के डिप्टी कमांडर ऑफिसर पर यौन अपराध का आरोप – कोर्ट के निर्णय के बाद कनाडाई सैन्य बल कर सकती है अनुशासनात्मक कार्रवाई

ओटावा, ३१ मार्च। कैनेडा का सैन्य रेजीमेंट इन दिनों सवालों के घेरे में है। यहां बड़े अधिकारी बड़े गंभीर आरोपों से ही घिर रहे हैं। ताजा मामला बेहद चौंकाने वाला ह। जिन पर देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी है उन पर यौन अपराध के आरोप लग रहे हैं। ताजा मामले में ओटावा शहर की आधिकारिक सैन्य रेजिमेंट के एक मेजर पर यौन अपराधों का आरोप लगाया गया है, जिसमें एक नाबालिग के खिलाफ अपराध भी शामिल है। राष्ट्रीय रक्षा विभाग के अनुसार वर्तमान में ओटावा के कैमरन हाइलैंडर्स के अंशकालिक डिप्टी कमांडिंग ऑफिसर के रूप में कार्यरत मेजर रॉबर्ट बेकर पर
ओंटारियो प्रांतीय पुलिस (ओपीपी) द्वारा यौन उत्पीड़न, यौन हस्तक्षेप और यौन शोषण का आरोप लगाया गया है।

ओपीपी ने अभी यह स्पष्ट नहीं किया है कि देकर के ऊपर और कितने आरोप लगाए गए हैं। स्पष्ट है कि मामला गंभीर है। यौन अपराधों में १८ साल से कम उम्र की नाबालिगों के साथ यौन शोषण का आरोप, यौन स्पर्श, या किसी व्यक्ति के साथ यौन स्पर्श का आमंत्रण शामिल है।

बता दें कि ओटावा के कैमरून हाइलैंडर्स एक कनाडाई सशस्त्र बल रेजिमेंट है, जो नियमित बल में वृद्धि के लिए या घरेलू आपात स्थितियों में उपयोग के लिए हल्के पैदल सेना को प्रशिक्षण देने का काम करता है।

राष्ट्रीय रक्षा विभाग के मीडिया संबंधों के प्रमुख डैनियल ले बाउथिलियर ने कहा है कि कनाडाई सशस्त्र बल अदालत के फैसले के आधार पर बेकर के विरुद्ध आगे के प्रशासनिक या अनुशासनात्मक कार्रवाई पर विचार कर सकती है। अपराध गंभीर है इसलिये अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें
सशस्त्र बलों से हटाने की सिफारिश भी की जा सकती है। २३ मार्च से, बेकर को यूनिट के साथ परेड में शामिल नहीं होने दिया जा रहा है और न ही उन्हें वेतन मिल रहा है।

बाउथिलियर ने कहा कि कनाडाई सशस्त्र बल अपने सदस्यों को आचरण और प्रदर्शन को उच्च स्तर पर रखता है।

उल्लेखनीय है कि २०२१ के दौरान, कनाडाई सशस्त्र बलों के एक दर्जन से अधिक वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के यौन अपराधों में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर संलिप्त पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें सेवानिवृत्त कर दिया गया।

Scroll to Top