55 Views

न्यायविद् तमस सुलिओक बनेे हंगरी के नए राष्ट्रपति

बुडापेस्ट । हंगरी के सांसदों ने संवैधानिक न्यायालय के प्रमुख तमस सुलिओक को देश का नया राष्ट्रपति चुना है। १९९ सांसदों में से १४६ ने सोमवार को मतदान में भाग लिया। इनमें से १३४ वोट पक्ष में और पांच वोट विपक्ष में पड़े। सात वोट अवैध था।
विपक्ष के अधिकतर सांसदों ने मतदान में भाग नहीं लिया। सुलिओक ने अपने नामांकन के दौरान भाषण में कहा था, एक न्यायविद् के रूप में, और गणतंत्र के राष्ट्रपति के रूप में मेरी भूमिका में, मेरी सबसे महत्वपूर्ण प्रतिबद्धता जनता की भलाई के लिए काम करना और कानून के बुनियादी मूल्यों को बनाए रखते हुए देश की एकता को मूर्त रूप देना है।
सुलिओक की पूर्ववर्ती कैटालिन नोवाक ने बाल दुर्व्यवहार क्षमा घोटाले के बाद १० फरवरी को पद छोड़ दिया। सुलिओक को पांच साल के कार्यकाल के लिए चुना गया है। २४ मार्च, १९५६ को दक्षिणी हंगरी के किस्कुनफ़ेलेगिहाज़ा में जन्मे, सुलिओक ने १९८० में सेज्ड में जोज़सेफ अत्तिला विश्वविद्यालय से स्नातक किया। २००४ में यूरोपीय कानून योग्यता और २०१३ में पीएचडी भी की।
सुलिओक ने न्यायिक क्लर्क, कानूनी सलाहकार, वकील के रूप में और सेज्ड में ऑस्ट्रिया के मानद वाणिज्य दूत व २००५ से सेज्ड विश्वविद्यालय में संवैधानिक कानून में अतिथि व्याख्याता के रूप में कार्य किया है। उन्होंने २०१५ से संवैधानिक न्यायालय के उपाध्यक्ष की भूमिका निभाई, जबकि वे २०१६ में संवैधानिक न्यायालय के अध्यक्ष चुने गए।

Scroll to Top