57 Views
One more arrested in GST fraud case of ten thousand crores

फरवरी में १२.५ प्रतिशत बढ़ा भारत में जीएसटी कलेक्शन, १,६८,३३७ करोड़ रुपए पर पहुंचा आंकड़ा

नई दिल्ली । इस साल फरवरी में सकल वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व संग्रह सालाना आधार पर १२.५ प्रतिशत बढ़कर १,६८,३३७ करोड़ रुपये हो गया। वित्त मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों में यह बात सामने आई है। इसमें मुख्य योगदान घरेलू लेनदेन से जीएसटी में १३.९ प्रतिशत और वस्तुओं के आयात से जीएसटी में ८.५ प्रतिशत की वृद्धि का है। फरवरी २०२४ में रिफंड के बाद शुद्ध जीएसटी राजस्व १.५१ लाख करोड़ रुपये है, जो पिछले साल के इसी महीने की तुलना में १३.६ प्रतिशत ज्यादा है।
चालू वित्त वर्ष के लिए फरवरी २०२४ तक कुल सकल जीएसटी संग्रह १८.४० लाख करोड़ रुपये है, जो वित्त वर्ष २०२२-२३ की समान अवधि के संग्रह से ११.७ प्रतिशत अधिक है। वित्त वर्ष २०२३-२४ के लिए औसत मासिक सकल संग्रह १.६७ लाख करोड़ रुपये है, जो पिछले वर्ष के १.५ लाख करोड़ रुपये के आंकड़े से अधिक है। चालू वित्त वर्ष के लिए फरवरी २०२४ तक रिफंड के बाद शुद्ध जीएसटी राजस्व १६.३६ लाख करोड़ रुपये है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में १३ प्रतिशत अधिक है।
फरवरी २०२४ के कलेक्शन का विवरण
*केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर (सीजीएसटी): ३१,७८५ करोड़ रुपये
*राज्य वस्तु एवं सेवा कर (एसजीएसटी): ३९,६१५ करोड़ रुपये
*एकीकृत वस्तु एवं सेवा कर (आईजीएसटी): ८४,०९८ करोड़ रुपये, जिसमें आयातित वस्तुओं पर एकत्र ३८,५९३ करोड़ रुपये शामिल है।
*उपकर: १२,८३९ करोड़ रुपये, जिसमें आयातित वस्तुओं पर एकत्र ९८४ करोड़ रुपये शामिल है।

Scroll to Top