52 Views

विश्व बैंक के जी-२० दस्तावेज ने डिजिटल सार्वजनिक अवसंरचना के द्वारा भारत के वित्तीय समावेश की प्रशंसा की

नई दिल्ली , ०९ सितम्बर । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व बैंक के एक निष्कर्ष को साझा किया, जिसे विश्व बैंक ने अपने जी-२० दस्तावेज में शामिल किया है, और उसमें कहा गया है कि भारत ने केवल छह वर्षों में वित्तीय समावेश का लक्ष्य हासिल कर लिया है, जिसे प्राप्त करने में कम से कम ४७ वर्षों का लंबा समय लग सकता था। वर्ल्ड बैंक के जरिये तैयार किये जाने वाले एक जी-२० दस्तावेज ने भारत के विकास के बारे में एक बहुत दिलचस्प बात साझा की है। भारत ने केवल छह वर्षों के समय में वित्तीय समावेश का लक्ष्य हासिल कर लिया है, जिसे प्राप्त करने में कम से कम ४७ वर्षों का लंबा वक्त लग सकता था। हमारे मजबूत डिजिटल भुगतान का बुनियादी ढांचा और हमारी जनता का उत्साह सराहनीय है। यह तेज रफ्तार से होने वाली प्रगति और नवोन्मेष का प्रमाण भी है।

Scroll to Top