fbpx

भारतीय वायुसेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर क्रैश, एक दर्जन से अधिक की मौत

December 8, 2021

चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत सहित 14 लोग थे सवार

नई दिल्ली, 8 दिसंबर। भारतीय वायुसेना का एक हेलीकॉप्‍टर तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया। इस हेलीकॉप्‍टर में चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत सहित 14 लोग सवार थे, इसमें पांच क्रू मेंबर शामिल हैं। दुर्घटना स्थल से कई लोगों के शव बरामद किए गए हैं। दुर्घटना में कुल कितने लोगों की मृत्यु हुई है, इस बात का खुलासा अभी नहीं किया गया है। जनरल बिपिन रावत की हालत के बारे में अभी पता नहीं चल सका है। वायु सेना की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक सीडीएस जनरल रावत के अलावा उनकी पत्‍नी, उनके डिफेंस असिस्‍टेंट, सुरक्षा कमांडोज और भारतीय वायुसेना के जवान हेलीकॉप्‍टर में सवार थे।
तमिलनाडु के कुन्नूर में वायुसेना का एक एमआई-17 हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया , जिसमें सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी भी मौजूद थे। इस हेलीकॉप्टर में कुल 14 लोग सवार थे, जिनमें सेना के बड़े अफसर भी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार हादसे के बाद सीडीएस रावत को अस्पताल ले जाया गया है।
हेलीकॉप्टर क्रैश होने के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया गया। एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हेलीकॉप्टर में सवार कुल 14 लोगों में से 13 की मौत हो गई है। इनमें जनरल बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत भी शामिल हैं। हादसे में झुलसने की वजह से शवों की पहचान नहीं हो पाई है। स्थानीय कलेक्टर के मुताबिक हादसे में बचने वाला एकमात्र शख्स पुरुष है। एक न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि शवों की पहचान के लिए डीएनए टेस्ट किया जाएगा।
फिलहाल यह मालूम नहीं चल पाया है कि वायुसेना का हेलीकॉप्टर मौसम खराब होने के कारण क्रैश हुआ या फिर किसी तकनीकी खराबी के कारण। भारतीय वायुसेना ने भी इस घटना पर ट्वीट कर पुष्टि की है कि जनरल रावत इस हेलीकॉप्टर में सवार थे। इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार क्रैश होने के बाद हेलीकॉप्टर से आग की लपटें उठने लगीं। हेलीकॉप्टर क्रैश होने के बाद स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और मदद शुरू कर दी।
मिली जानकारी के अनुसार जनरल रावत के अलावा हेलीकॉप्टर में सवार लोगों में मधुलिका रावत, ब्रिगेडियर एलएस लिड्डर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, गुरसेवक सिंह, जितेंद्र कुमार, विवेक कुमार, बी साई तेजा और हवलदार सतपाल शामिल थे। गौरतलब है कि एमआई-17 हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल ट्रांसपोर्टेशन के लिए किया जाता है। अधिकतर सेना के अधिकारी इसी हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल करते हैं।