62 Views

१.३ बिलियन तक पहुंचा ग्लोबल ५जी मोबाइल सब्सक्रिप्शन, भारत ने सबसे अधिक यूजर्स जोड़े

सोल ,०७ सितंबर । दूसरी तिमाही में ग्लोबल ५जी सब्सक्रिप्शन में १७५ मिलियन की वृद्धि हुई, जबकि इस अवधि में सात मिलियन से अधिक नए यूजर्स के साथ भारत में समग्र मोबाइल सब्सक्रिप्शन में सबसे अधिक वृद्धि हुई। एरिक्सन मोबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार, दूसरी तिमाही में शामिल होने से ५जी सब्सक्रिप्शन की वैश्विक संख्या १.३ बिलियन के करीब पहुंच गई है।
दूसरी तिमाही में, मोबाइल सब्सक्रिप्शन की संख्या कुल ८.३ बिलियन हो गई, जिसमें तिमाही के दौरान ४० मिलियन सब्सक्रिप्शन की शुद्ध वृद्धि हुई। यूनिक मोबाइल सब्सक्राइबर्स की संख्या ६.१ बिलियन थी।
तिमाही के दौरान भारत में सबसे अधिक शुद्ध वृद्धि (७ मिलियन से अधिक) हुई। भारत के बाद चीन (पांच मिलियन) और अमेरिका (तीन मिलियन) मोबाइल सब्सक्राइबर्स रहे। रिपोर्ट में कहा गया है, लगभग २६० कम्युनिकेशन सर्विस प्रोवाइडर्स (सीएसपी) ने कमर्शियल ५जी सर्विस लॉन्च की हैं। लगभग ३५ सीएसपी ने ५जी स्टैंडअलोन (एसए) नेटवर्क लॉन्च किया है।
दूसरी तिमाही में ग्लोबल मोबाइल सब्सक्रिप्शन पहुंच १०५ प्रतिशत थी। तिमाही में मोबाइल ब्रॉडबैंड सब्सक्रिप्शन की संख्या में लगभग १०० मिलियन की वृद्धि हुई, जो कुल ७.४ बिलियन हो गई, जो साल-दर-साल ५ प्रतिशत की वृद्धि है। निष्कर्षों से पता चला कि अब सभी मोबाइल सब्सक्रिप्शन में मोबाइल ब्रॉडबैंड की हिस्सेदारी ८८ प्रतिशत है।
दूसरी तिमाही २०२२ और दूसरी तिमाही २०२३ के बीच मोबाइल डेटा ट्रैफिक में ३३ प्रतिशत की वृद्धि हुई। ४जी सब्सक्रिप्शन में ११ मिलियन की वृद्धि हुई, जो कुल मिलाकर लगभग ५.२ बिलियन है और सभी मोबाइल सब्सक्रिप्शन का ६२ प्रतिशत है।
तिमाही में मोबाइल ब्रॉडबैंड सब्सक्रिप्शन की संख्या में लगभग १०० मिलियन की वृद्धि हुई, जो कुल ७.४ बिलियन हो गई, जो साल-दर-साल ५ प्रतिशत की वृद्धि है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अब सभी मोबाइल सब्सक्रिप्शन में मोबाइल ब्रॉडबैंड की हिस्सेदारी ८८ प्रतिशत है।

Scroll to Top