बल्लेबाजी की कमजोरियों को दूर करना होगा भारत को : इयान चैपल

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का मानना है कि इस साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बेहद मजबूत गेंदबाजी आक्रमण का सामना करने से पहले भारत को अपनी बल्लेबाजी की कमजोरियों को दूर करना होगा। दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में सीरीजएं गंवाने के बाद विराट कोहलीकी अगुआई वाली टीम की नजरें ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने पर टिकी हैं। चैपल ने एक कॉलम में लिखा, ‘भारतीय टीम अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बहुप्रतीक्षित सीरीज में अपनी प्रतिष्ठिता में सुधार करने उतरेगी लेकिन बल्लेबाजी की विसंगतियों पर ध्यान देना होगा।’ उन्होंने लिखा, ‘निलंबन के कारण दो सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ और डेविड वॉर्नर के बाहर होने के कारण ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी पर सवाल उठाए जा सकते हैं लेकिन उनका गेंदबाजी आक्रमण बेहद मजबूत है।’
भारत को तीन टी20 अंतराष्ट्रीय, तीन वनडे और चार टेस्ट मैचों के लिए 21 नवंबर से 18 जनवरी के बीच ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है। चैपल ने कहा, ‘अगर मिशेल स्टार्क, जोश हेजलवुड, पैट्रिक कमिंस और नाथन लियोन फिट रहते हैं तो भारतीय बल्लेबाजों के लिए समय चुनौतीपूर्ण होगा। इंग्लैंड में हवा में और सीम से मिल रही मूवमेंट से विराट कोहली के अलावा अन्य बल्लेबाजों के लिए नियमित रूप से परेशानी खड़ी हुई, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में अतिरिक्त उछाल परेशानी पैदा करेगा।’ भारत को 2014-15 के अपने पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चार टेस्ट की सीरीज में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा था। चैपल ने कहा, ‘आत्मविश्वास से भरा और अच्छी फॉर्म में चल रहा रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी को मजबूत करने के लिए आदर्श खिलाड़ी होगा। उनके शॉट अतिरिक्त उछाल से निपटने के लिए सही हैं, लेकिन यह दुख की बात है कि वह कभी टेस्ट क्रिकेट में उम्मीद के मुताबिक बल्लेबाजी नहीं कर पाए। दौरे के लिए उन्हें चुनना जुआ होगा।’ चैपल ने इंग्लैंड के दौरे पर टेस्ट सीरीज 1-4 से हारने को मौका गंवाना बताया। उन्होंने कहा, ‘भारत को इंग्लैंड के खिलाफ 1-4 से सीरीज हारने को मौका गंवाने के रूप में देखना चाहिए। लॉर्ड्स में करारी हार के अलावा वे सीरीज में काफी प्रतिस्पर्धी रहे, लेकिन टीम में सिर्फ प्रतिस्पर्धा पेश करने से कहीं बेहतर करने की क्षमता है।’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top