पटना में एससी-एसटी कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस का लाठीचार्ज

September 21, 2018

पटना बिहार के पटना में सवर्ण एकता मंच के सैकड़ों कार्यकर्ताओं पर शुक्रवार को पुलिस ने जमकर लाठियां बरसाई। इस घटना में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दरअसल, सवर्ण एकता मंच के सैकड़ों कार्यकर्ता सवर्णों के भारत बंद के दौरान गिरफ्तार किए गए लोगों की रिहाई की मांग कर रहे थे और गांधी मैदान में इकट्ठा हुए थे। इस दौरान उनके हाथों में पोस्टर-बैनर भी थे और वो मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने जा रहे थे, लेकिन मौर्यालोक के पास पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर उन्हें जाने से रोक दिया। इसके बावजूद कार्यकर्ता नहीं माने और बैरिकेड्स तोड़कर जाने लगे। इसके बाद डाकबंगला चौराहे पर पुलिस ने उन्हें घेर लिया और लाठीचार्ज शुरू कर दिया। इसके बाद काफी देर तक वहां अफरा-तफरी का माहौल बना रहा।

बता दें कि मोदी सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए एससी-एसटी एक्ट में संशोधन कर मूल स्वरूप में बहाल करने पर पूरे देश में कई सवर्ण संगठनों ने इसी महीने भारत बंद बुलाया था। इस दौरान कई जगहों पर आगजनी की घटनाएं हुईं थी और ट्रेनें भी रोकी गईं थी। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे कई लोगों को गिरफ्तार भी किया था, जिनकी रिहाई के लिए सवर्ण एकता मंच के कार्यकर्ता आज प्रदर्शन कर रहे थे। दरअसल, कार्यकर्ताओं की मांग है कि गरीब सवर्णों को भी आरक्षण दिया जाए ताकि वो भी आगे बढ़ सकें। इसके अलावा कार्यकर्ताओं की ये भी मांग है कि भारत बंद के दौरान बिहार के कई जिलों में महिलाओं पर बर्बरतापूर्ण कार्रवाई की गई थी, सरकार उन मामलों पर कड़ी कार्रवाई करे।