इंटरनैशनल हॉकी फेडरेशन ने की पुरस्कारों की घोषणा

October 7, 2021

भारतीय खिलाडियों का दबदबा, बेल्जियम निराश

नई दिल्ली,7 अक्टूबर। बीते कुछ समय से भारतीय खेल नित्य नई ऊंचाइयां हासिल कर रहे हैं। हाल ही में हुए टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रदर्शन अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन रहा है। टोक्यो ओलिंपिक में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली भारतीय हॉकी टीम को इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन ने कई अवॉर्ड्स दिए हैं। यह बात ओलिंपिक चैंपियन बेल्जियम को नहीं पची और उन्होंने मतदान प्रणाली पर ही सवाल खडे़ कर दिए हैं और इसे पुरस्कारों की विफलता तक बता दिया।
गौरतलब है कि यह पहला मौका है जब भारतीय हॉकी की दोनों टीमों (महिला और पुरुष) ने सभी कैटेगरी में अवार्ड जीते हैं। वहीं ओलंपिक चैम्पियन बेल्जियम को किसी भी कैटेगरी में पुरस्कार नहीं मिला। इससे निराश बेल्जियम ने ट्वीट कर कहा, ‘हॉकी बेल्जियम इंटरनेशनल हॉकी फेडरेशन अवॉर्ड के परिणामों से बहुत ही निराश है। ओलिंपिक में गोल्ड विजेता टीम जिसके सभी वर्गों में एक नहीं बल्कि कई नामांकन थे। उसे एक भी पुरस्कार नहीं दिया गया है। ये पूरी तरह से मत प्रणाली की विफलता पर सवाल खड़ा करता है। हम भविष्य में एक निष्पक्ष प्रणाली की मांग करते हैं। इंटरनैशनल हॉकी फेडरेशन के साथ काम करेंगे।
दूसरी ओर भारतीय हॉकी टीमों के सदस्यों को लगभग हर श्रेणी में पुरस्कार मिला। भारतीय टीम के महिला और पुरुष टीम के गोलकीपर श्रीजेश और सविता पुनीया को बेस्ट गोलकीपर के खिताब से नवाजा गया। वहीं, टीम इंडिया के दोनों टीम के कोच (महिला, पुरुष) शोर्ड मारिन और ग्राहम रीड को बेस्ट कोच घोषित किया गया है।
भारतीय टीम के युवा खिलाड़ी विवेक प्रसाद और शर्मिला देवी को साल के उभरते हुए खिलाड़ी के अवॉर्ड से नवाजा गया। वहीं, हरमनप्रीत सिंह को ‘प्लेयर ऑफ द इयर’ का अवॉर्ड मिला।