अमेरिका के स्कूल में अंधाधुंध गोलीबारी

October 7, 2021

चार घायल, आरोपी छात्र गिरफ्तार

वाशिंगटन, 7 अक्टूबर। अमेरिका के अर्लिंगटन के एक स्कूल में हुई गोलीबारी में चार लोग घायल हो गए। हमले के बाद फरार हुए 18 वर्षीय आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है।
अधिकारियों ने बताया कि घटना अर्लिंगटन में टिंबरव्यू हाईस्कूल में हुई, जो डलास फोर्ट वर्थ महानगर क्षेत्र के अंतर्गत आता है। उन्होंने बताया कि स्कूल में किसी बात को लेकर छात्रों में आपस में झगड़ा हो गया था, जिसके बाद फायरिंग शुरू हो गई ।
हमलावर की पहचान टिमोथी जॉर्ज सिंपकिंस के रूप में हुई है।
फायरआर्म्स एंड एक्सप्लोसिव (एटीएफ) की टीम पहुंच गई है और जांच जारी है।
लोकल मीडिया का कहना है कि उन्होंने कई एंबुलेंस को स्कूल से निकलते हुए देखा है। ऐसे में स्कूल ने बच्चों के माता-पिता को पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि स्कूली इलाके में एक शूटर के होने की वजह से किसी भी गेस्ट को स्कूल में आने की अनुमति नहीं है। छात्र और स्कूल के कर्मचारी क्लासों और ऑफिसों में बंद हैं।
गौरतलब है कि टेक्सास क्षेत्र से अक्सर फायरिंग की घटनाएं सामने आती हैं। साल 2017 में भी अमेरिका के टेक्सास प्रांत में एक बैपटिस्ट चर्च में गोलीबारी की घटना हुई थी। इस गोलीबारी में 26 से ज्यादा लोग मारे गए थे और कई घायल हुए थे। हमलावर की उम्र 20 साल से ज्यादा थी और वह हथियारों से लैस था। घटना के बाद हुई फायरिंग में हमलावर को मार गिराया गया था। टैक्सास के स्कूल में ताजा हमले को अंजाम देने वाले शख्स की उम्र भी 18 साल बताई जा रही है।
टैक्सास में हो रहीं ये फायरिंग की घटनाएं सामान्य नहीं कही जा सकती। कम उम्र के युवा इस तरीके से हिंसक हो रहे हैं तो ये किसी भी देश के लिए चिंता का विषय है। कई बुद्धिजीवी तथा समाजशास्त्री इसके लिए अमेरिका में बढ़ती हथियारों की संस्कृति को जिम्मेदार ठहराते हैं। गौरतलब है कि अमेरिका में हथियारों की खरीद फरोख्त डिपार्टमेंटल स्टोर से की जा सकती है।