पटरी पर लौट रही भारतीय इकोनामी, सितंबर का जीएसटी कलेक्शन 1.17 लाख करोड़

October 1, 2021

नई दिल्ली, 1 अक्टूबर। कोरोना से प्रभाव से मुक्त होकर भारतीय इकोनॉमी अब पटरी पर लौटती नजर आ रही है। इसी के साथ सरकार की आमदनी भी बढ़ रही है। अगस्त के मुकाबले सितंबर में जीएसटी कलेक्शन 5,000 करोड़ रुपए बढ़ा है। सितंबर में जीएसटी कलेक्शन 1.17 लाख करोड़ रुपए रहा, जो कि अगस्त में 1.12 लाख करोड़ रुपए था।
सरकार ने बताया कि बीते साल यानी सितंबर 2020 के मुकाबले जीएसटी कलेक्शन सितंबर 2021 में 23 प्रतिशत बढ़कर 1,17,010 लाख करोड़ रुपए हो गया है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि जीएसटी कलेक्शन में लगातार हो रही बढ़ोतरी सरकार और देश की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा संकेत है।
अगस्त के मुकाबले सितंबर में सेंट्रल गुड्स एंड सर्विस टैक्स (CGST) कलेक्शन 20,522 करोड़ रुपए से बढ़कर 20,578 करोड़ रुपए रहा। स्टेट गुड्स एंड सर्विस टैक्स (SGST) कलेक्शन 26,767 करोड़ रुपए रहा, जो कि अगस्त में 26,605 करोड़ रुपए था। इसके अलावा इंटीग्रेटेड गुड्स एंड सर्विस टैक्स (IGST) कलेक्शन 60,911 करोड़ रुपए रहा, जो कि अगस्त में 56,247 करोड़ रुपए था। जबकि सेस 8,646 करोड़ रुपए से बढ़कर 8,754 करोड़ रुपए रहा है।
गौरतलब है कि जीएसटी कलेक्शन लगातार 9 महीने तक 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा रहने के बाद जून 2021 में घटकर 1 लाख करोड़ रुपए के नीचे आ गया था। इसके बाद जुलाई में जीएसटी कलेक्शन फिर से 1 लाख करोड़ के ऊपर पहुंच गया था। अब लगातार तीन महीने से जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए के ऊपर है।
विशेषज्ञों का कहना है कि जीएसटी में सुधार व्यापारियों तथा ग्राहकों की खरीद क्षमता में सुधार को दर्शाता है। यह एक अच्छा संकेत कहा जा सकता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि शीघ्र ही भारतीय अर्थव्यवस्था कोविड-19 काल की गति को पकड़ लेगी।