पाकिस्तान में पहली बार हिंदू लड़की ने पास की सीसीएस की परीक्षा

September 21, 2021

इस्लामाबाद,21 सितंबर। पाकिस्तान के इतिहास में पहली बार कोई हिंदू लड़की देश के सबसे मुश्किल एग्जाम को पास करने में कामयाब हो गई है। 27 साल की डॉक्टर सना रामचंद गुलवानी ने सेंट्रल सुपीरियर सर्विसेस (CSS) की परीक्षा को मई में ही क्लियर कर लिया था, लेकिन अब उनकी नियुक्ति पर भी मुहर लग गई है। पाकिस्तान में यह परीक्षा सबसे मुश्किल मानी जाती है और इसके जरिए ही वहां प्रशासनिक सेवाओं यानी एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेस में नियुक्तियां होती हैं। इसे आप भारत के सिविल सर्विसेस एग्जाम की तरह मान सकते हैं, जिसे यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन आयोजित करता है। इस परीक्षा को बेहद कठिन माना जाता है। इसमें इस साल कुल 2 प्रतिशत कैंडिडेट्स ही कामयाबी हासिल कर पाए हैं। सना के मामले में सबसे खास बात यह रही कि उन्होंने इसे पहले प्रयास में ही क्रैक कर लिया।
सना मूल रूप से शिकारपुर की रहने वाली हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, सना ने सिंध प्रांत की रूरल सीट से इस परीक्षा में हिस्सा लिया था। यह सीट पाकिस्तान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेट के अंतर्गत आती है। मीडिया से बातचीत में सना ने कहा- मैं बहुत खुश हूं। यह मेरा पहला प्रयास था और जो मैं चाहती थी, वो मैंने हासिल कर लिया है। सना कहती हैं कि उन्होंने इस एग्जाम को क्लियर करने की ठान ली थी और इसके लिए शुरू से काफी मेहनत की।सना के मुताबिक, उनके पैरेंट्स नहीं चाहते थे कि वो एडमिनिस्ट्रेशन में जाएं। पैरेंट्स का सपना उन्हें मेडिकल प्रोफेशन में ही देखने का था। खास बात यह है कि उन्होंने दोनों ही टारगेट पूरे किए। वो मेडिकल प्रोफेशनल होने के साथ अब एडमिनिस्ट्रेशन का भी हिस्सा बनने जा रही हैं। पांच साल पहले उन्होंने शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी से बैचलर ऑफ मेडिसिन में ग्रेजुएशन किया था। इसके अलावा वह सर्जन भी हैं। पाकिस्तान में ये दोनों ही कोर्स साथ होते हैं। यूरोलॉजी में उनके पास मास्टर डिग्री है। इसके बाद वो फेडरल पब्लिक सर्विस कमीशन की तैयारी में जुट गईं।सना के मुताबिक, पब्लिक सर्विस एग्जाम की तुलना अगर मेडिकल एग्जाम से की जाए तो ये कुछ आसान होते हैं। उन्होंने कहा- मैं इस एग्जाम के तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स से सिर्फ इतना कहूंगी कि वे खुद पर भरोसा रखें और ये सोचें कि वो कोई भी एग्जाम पास कर सकते हैं। सना के बारे में उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, वो शिकारपुर के सरकारी स्कूल में पढ़ी हैं। वो खुद कहती हैं- सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को कमजोर मत समझिए। ये छात्र भी हर कामयाबी हासिल कर सकते हैं जो एलीट स्कूलों के छात्र हासिल कर सकते हैं। सना फिलहाल, कराची में रहती हैं।