तालिबान नीति के कारण क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का कड़ा फैसला

September 30, 2021

रद्द होगा अफगानिस्तान-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट मैच

काबुल,30 सितंबर। तालिबान के लाख प्रयासों के बावजूद विश्व जनमत उनके खिलाफ होता जा रहा है। एक तरफ तालिबान अपनी छवि सुधारने और वैश्विक सरकारों से मान्यता देने की गुहार लगा रहा है तो दूसरी तरफ अपने अजीबोगरीब फैसले और दकियानूसी विचारधारा से देश को चलाना चाह रहा है। इसके चलते उसे ना केवल राजनैतिक बल्कि अन्य मोर्चों पर भी मुंह की खानी पड़ रही है। ताजा मामला अफगानिस्तान क्रिकेट से जुड़ा है। अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद अफगान क्रिकेट टीम की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की औपचारिक घोषणा इस हफ्ते करने जा रहा है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पिछले महीने से टेस्ट मैच को रद्द करने के संकेत दे रहा है।
क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने साफ किया है अगर सत्ताधारी तालिबान महिला क्रिकेट से प्रतिबंध नहीं हटाता है ,तो वे अफगानिस्तान के साथ क्रिकेट नहीं खेलेंगे। क्रिकेट तस्मानिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डोमीनिक बाकर ने कहा कि इस संबंध में जल्द की औपचारिक घोषणा होने की उम्मीद है।
बाकर ने कहा, ”इस हफ्ते इसे औपचारिक रूप से अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया जाएगा। यह स्वीकार्य नहीं है कि वे महिला खेलों को स्वीकृति नहीं देंगे। अगर वे प्रतिस्पर्धी पुरुष खेल खेलना चाहते हैं, विशेषकर क्रिकेट जगत में, तो उन्हें पुनर्विचार करना होगा कि उन्हें क्या करना है।”
दूसरी ओर तालिबान ने कहा है कि देश में महिला क्रिकेट जारी नहीं रहेगा। बाकर ने कहा कि सीए टेस्ट मैच के बाद में आयोजन का रास्ता खुला रहेगा लेकिन उसके लिए अफगानिस्तान में स्थिति सुधरना बेहद जरूरी है।
यह एकमात्र टेस्ट शुरू में 2020 में होना था लेकिन इसे कोविड-19 महामारी के कारण इस साल 27 नवंबर तक स्थगित कर दिया गया था।
आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स संघ ने भी मैच को स्थगित करने के सीए के फैसले का समर्थन किया है। क्रिकेटर्स संघ का कहना है कि वह राशिद खान जैसे खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया में खेलते देखना चाहते हैं पर महिला क्रिकेट को तवज्जों देना भी बेहद जरूरी है।