आईपीएल के फाइनल में नौवीं बार पहुंची चेन्नई सुपर किंग्स

October 11, 2021

दुबई,11 अक्टूबर। चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल में अपने शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन की बदौलत नौवीं बार फाइनल में जगह बना ली है। आईपीएल में तीन बार की चैंपियन चेन्नई को फाइनल में पहुंचाने में एक बार फिर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।
टॉर्च के बॉस कहे जाने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने इस महत्वपूर्ण मुकाबले में भी टॉस जीता। टॉस जीतकर उन्होंने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया।
पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली ने पृथ्वी शॉ और कप्तान ऋषभ पंत की धमाकेदार अर्धशतकीय पारियों की बदौलत 20 ओवर में 5 विकेट पर 172 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। इसके बाद जीत के लिए 173 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई सुपर किंग्स को बेहद मजबूत शुरुआत मिली। चेन्नई ने 13.2 ओवर में मात्र 1 विकेट के नुकसान पर 113 रन बना लिए थे। लेकिन उसके बाद विकेट गिरने का ऐसा सिलसिला शुरू हुआ कि पारी का आखिरी ओवर आते आते चेन्नई ने 4 और विकेट गंवा दिए। जिससे एक तरफा दिख रहा है यह मैच रोमांच पूर्ण हो गया।
जीत के लिए आखिरी ओवर में चेन्नई को 13 रन बनाने थे। मैदान पर महेंद्र सिंह धोनी और उनका साथ देने के लिए मोईन अली मौजूद थे। ऐसे अहम मौके पर दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत ने चमत्कारी गेंदबाज कगिसो रबाडा को अंतिम ओवर ने देकर घातक भूल की। ऋषभ पंत ने 20वां ओवर फेंकने के लिए गेंद टॉम कुरेन के हाथों में थमा दी। हालांकि कुरेन ने पहली गेंद पर मोईन अली का विकेट चटकाकर एक बार फिर दिल्ली की जीत की आस जगा दी। लेकिन मोईन अली के आउट होने के बाद स्ट्राइक पर पहुंचे धोनी ने धमाकेदार अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए एक बार फिर अपनी बेहतरीन कप्तानी को साबित किया और टीम को जीत दिलाई।
धोनी 6 गेंद में 18 रन बनाकर नाबाद रहे। अपनी पारी के दौरान उन्होंने एक छक्का और 2 चौके जड़े। धोनी ने इस पारी से बता दिया है कि भले ही उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है लेकिन वो क्रिकेट खेलना और मैच फिनिश करने का हुनर नहीं भूले हैं। वो दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर थे और हमेशा रहेंगे।
इस मैच में जीत के साथ जहां चेन्नई सुपर किंग्स आई पी एल 2021 के फाइनल में पहुंच गई है वहीं दिल्ली के पास भी अभी एक और मौका बाकी है। वह कोलकाता और बेंगलुरु के बीच होने वाले एलिमिनेटर मैच में जीतने वाली टीम के साथ एक मैच खेलेगी।