सीएपी ऑरेंज शर्ट दिवस और सच्चाई, सुलह के लिए राष्ट्रीय दिवस मना रही

October 14, 2021

ओटावा, 30 सितंबर। आदिवासी लोगों की कांग्रेस (सीएपी) ऑरेंज शर्ट दिवस और सच्चाई और सुलह के लिए राष्ट्रीय दिवस मना रही है। सीएपी ने हाल ही में फिर से चुनी गई लिबरल सरकार और अन्य सभी दलों से सभी स्वदेशी लोगों के साथ सामंजस्य स्थापित करने के लिए प्रतिबद्ध होने का आह्वान किया है।
सीएपी के राष्ट्रीय प्रमुख एल्मर सेंट पियरे ने कहा,”बहुत लंबे समय से कैनेडा के स्वदेशी लोगों ने सरकार के हाथों अन्याय का सामना किया है और उनके साथ भेदभाव किया गया है। हालांकि एक राष्ट्रीय अवकाश हमारे लोगों द्वारा सदियों से झेली गई ऐतिहासिक गलतियों को ठीक नहीं करता है, किंतु फिर भी यह कैनेडा में स्वदेशी लोगों के इतिहास पर सभी कैनेडियन लोगों को शिक्षित करने और सुलह को आगे बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने का एक महत्वपूर्ण समय है।”
उन्होंने कहा,”वास्तविक सुलह तभी हो सकती है जब सरकार कैनेडा में सभी स्वदेशी लोगों के साथ काम करने के लिए ऐतिहासिक रूप से नस्लवादी न्याय प्रणाली में सुधार करने, स्वास्थ्य देखभाल तक पहुंच बढ़ाने और सुधारने और हमारे लोगों के हितों को आगे बढ़ाने के लिए स्वदेशी नेताओं के साथ साझेदारी में काम करने के लिए प्रतिबद्ध हो।”
सीएपी को उम्मीद है कि पुनर्निर्वाचित लिबरल सरकार सीएपी के साथ सहयोग करेगी। सीएपी एकमात्र संगठन है जो ऑफ-रिजर्व स्थिति और गैर-स्थिति वाले भारतीयों, मेटिस और दक्षिणी इनुइट स्वदेशी लोगों का प्रतिनिधित्व करता है। स्वदेशी आबादी का यह वर्ग सबसे अधिक हाशिए पर है।
कुछ ही समय पहले पूर्व आवासीय विद्यालयों पर कई अचिह्नित सामूहिक कब्रों की खोज ने सुलह की आवश्यकता और इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए किए जाने वाले कार्यों पर प्रकाश डाला है। आवासीय विद्यालयों की काली विरासत को पूरे स्वदेशी समुदायों में महसूस किया जाना जारी है और हालांकि एक राष्ट्रीय अवकाश समस्या का समाधान नहीं करता किंतु यह हमारे समुदायों के वास्तविक हालातों पर प्रकाश डालने का एक अवसर है। सीएपी सभी कैनेडियन लोगों को और जानने के लिए प्रोत्साहित करता है। क्योंकि इससे ना केवल सामाजिक रूप से वंचित रहे समुदायों के प्रति जागरूकता बढ़ेगी बल्कि उन्हें न्याय का अवसर भी मिल सकेगा। इसके अलावा समुचित जानकारी के अभाव में स्वदेशी लोगों को हमेशा से ही भेदभाव तथा अत्याचार का सामना करना पड़ा है, जो आगे नहीं दोहराया जाना चाहिए। सीएपी स्वदेशी समुदायों के साथ होने वाले किसी भी भेदभाव को भविष्य में न होने देने के लिए प्रतिबद्ध है तथा वह नवनिर्वाचित फेडरल सरकार और विभिन्न सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर इस लक्ष्य की प्राप्ति तक कार्य करती रहेगी।