अफगानिस्तान में शिया मस्जिद में विस्फोट, सैकड़ों की मौत

October 9, 2021

काबुल,9 अक्टूबर। अफगानिस्तान में एक शिया मस्जिद को निशाना बनाते हुए शुक्रवार को एक शक्तिशाली बम विस्फोट किया गया। इस बम विस्फोट में 100 से ज्याजा लोगों की मौत की खबर आ रही है।
प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शुक्रवार की साप्ताहिक नमाज के दौरान यह बम विस्फोट किया गया। उत्तरी अफगानिस्तान की कुंदुज प्रांत की एक शिया मस्जिद में यह विस्फोट हुआ। कुंद्रुज सेंट्रल हॉस्पिटल के एक डॉक्‍टर ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, ‘अब तक हमें 95 शव मिल चुके हैं और 50 से अधिक घायल इस समय अस्‍पताल में हैं। ‘एक सूत्र ने बताया कि एक अन्‍य अस्‍पताल में 15 लोगों के शव मिले हैं। तालिबान के प्रवक्‍ता जबीहुल्‍लाह मुजाहिद ने इससे पहले बताया था कि कुंदुज के हमारे शिया हमवतन की मस्जिद में हुए धमाके में बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत हुई है और घायल हुए हैं। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि वे जब नमाज अदा कर रहे थे, तो उन्होंने विस्फोट की आवाज सुनी। बताया जा रहा है कि विस्फोट में कई लोग घायल हुए हैं।
तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने बताया कि कुंदुज प्रांत की राजधानी बंदर के खान आबाद कस्बे में यह धमाका हुआ है।
गौरतलब है कि अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता पर काबिज होने के बाद से देश में अस्थिरता का माहौल बना हुआ है। अभी विस्फोट के पीछे की वजह का पता नहीं चला है। कुंदुज प्रांत में हुए विस्फोट के लिए इस्लामिक स्टेट ने जिम्मेदारी ली है। इस्लामिक स्टेट आतंकवादियों का अफगानिस्तान के शिया मुस्लिम अल्संख्यकों पर हमला करने का लंबा इतिहास है। मृतक संख्या की पुष्टि हो जाने पर, शुक्रवार का हमला अमेरिका और नाटो सैनिकों की अगस्त के अंत में अफानिस्तान से वापसी और देश पर तालिबान के कब्जे के बाद सबसे भीषण हमला है और जिसमें मौतों की संख्या सर्वाधिक है। अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट अपने प्रतिद्वंद्वियों को निशाना बना रहा है और इसी उद्देश्य को लेकर उसने काबुल में दो बम हमले किए। इस्लामिक स्टेट अफगानिस्तान के धार्मिक अल्पसंख्यक वर्ग को भी निशाना बनाता है।
अगस्त के मध्य में तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद से आइएसआइएल से जुड़े आतंकवादियों के हमले बढ़ गए हैं। तालिबान की वापसी के बाद से अफगानिस्‍तान में हालात और खराब हो गए हैं। आतंकवादी हमलों में वृद्धि ने दोनों समूहों के बीच व्यापक संघर्ष की संभावना को बढ़ा दिया है
अफ़ग़ानिस्तान के नये तालिबान शासकों, धार्मिक संस्थानों और देश की अल्पसंख्यक शिया मुस्लिमों के सदस्यों को निशाना बनाकर इस्लामिक स्टेट की तरफ से एक के बाद एक किए जा रहे हमलों में यह नया मामला है। शुक्रवार को जारी बयान में, अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि अमेरिका उत्तरी अफगानिस्तान में एक मस्जिद में नमाजियों पर शुक्रवार को किए गए हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता है।