मतदान के एक दिन पूर्व सभी राजनीतिक पार्टियों ने बहाया पसीना

September 20, 2021

ओटावा,20 सितंबर। संघीय चुनाव अभियान रविवार को अपने अंतिम घंटों में प्रवेश कर गया। इस दौरान सभी राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने स्विंग राइडिंग के तूफानी दौरों में अंतिम क्षणों में अपील की। सभी ने मतदाताओं को अपनी पार्टी के पक्ष में मतदान करने के लिए लुभाने की भरपूर कोशिश की।
एनडीपी नेता जगमीत सिंह और कंजर्वेटिव लीडर एरिन ओ’टोल दोनों चाहते हैं कि यह मतदान उनके मुख्य प्रतिद्वंद्वी, लिबरल लीडर जस्टिन ट्रूडो के नेतृत्व पर एक जनमत संग्रह के समान हो।
जस्टिन ट्रूडो ने रविवार को पूरे दिन सस्केचवान को छोड़कर देशभर में वर्चुअल तथा इन पर्सन सभाएं की। उन्होंने मतदाताओं को यह बताने का प्रयास किया किक कोविड-19 महामारी के दौर में वे किस पर सबसे अधिक भरोसा कर सकते हैं। जो उन्हें महामारी के इस संकट से उबार सकता है।
एसोसिएशन ऑफ कैनेडियन स्टडीज के अध्यक्ष जैक जेडवाब ने कहा कि चुनाव महामारी की प्रतिक्रिया के बारे में उतना नहीं है जितना कि ट्रूडो को उम्मीद थी।जेदवाब ने एक साक्षात्कार में कहा, “आदर्श रूप से उदारवादी दृष्टिकोण के लिए, चुनाव में प्रमुख निर्धारण मुद्दा यह होना चाहिए था ‘क्या आप कोविड से निपटने के तरीके से संतुष्ट हैं? इसका उद्देश्य मतदाता विकल्पों के साथ उनकी संतुष्टि दरों को अलाइन करने का प्रयास करना होना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बजाय महामारी सिर्फ पांच या छह मुद्दों में से एक बन गई, जिन पर मतदाता मतदान करते समय अवश्य विचार करेंगे। इन मुद्दों में बच्चों की देखभाल, पर्यावरण, अफगानिस्तान और हथियार आदि शामिल हैं।
जेदवाब के संगठन के लिए लेगर द्वारा आयोजित एक नए सर्वेक्षण में पाया गया कि 60 प्रतिशत उत्तरदाता इस बात से संतुष्ट हैं कि संघीय सरकार ने महामारी को कैसे संभाला, केवल 40 प्रतिशत उस राय को अपने वोट को प्रभावित करने दे रहे हैं। जेदवाब ने कहा कि यह 48 प्रतिशत से कम है जिन्होंने अगस्त के अंत में कहा था कि महामारी की प्रतिक्रिया उनकी पसंद को प्रभावित कर रही है।
इस संबंध में नवीनतम सर्वेक्षण 10 से 12 सितंबर के दरमियान किया गया। हालांकि यह एक ऑनलाइन पोल था जिसमें मार्जिन ऑफ एरर की गुंजाइश नहीं थी। अभियान के अंतिम दिनों में कोविड-19 फिर से सामने आ गया है। विशेष रूप से अल्बर्टा में यह चौथी लहर के रूप में सामने आया जिसने प्रांत को सार्वजनिक मास्किंग जैसे स्वास्थ्य उपायों को फिर से शुरू करने और एक वैक्सीन पासपोर्ट प्रणाली शुरू करने के लिए मजबूर किया, जिसका प्रीमियर जेसन केनी ने वादा किया था कि वह कभी नहीं आएगा।
लेगर पोल बताता है कि अटलांटिक कैनेडा, क्यूबेक और ब्रिटिश कोलंबिया के लोग इस बात से बेहद खुश हैं कि उनके प्रांतों ने महामारी को कैसे प्रबंधित (मैनेज) किया। लेकिन ओंटारियो और प्रेयरी में, जहां सभी सरकारें कंजरवेटिव हैं, प्रांतीय प्रतिक्रिया के लिए उत्साह बहुत कम देखने को मिला है।
कैनेडा में सभी राजनीतिक पार्टी अपने अपने स्तर से मुद्दों को उठाकर मतदाताओं को अपने पक्ष में करने का प्रयास कर रही हैैं। जस्टिन ट्रूडो, ओ’टोल तथा जगमीत सिंह इस राजनीतिक बिसात के मुख्य खिलाड़ी हैं। अधिकांश मतदाताओं ने अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है, जिसके चलते राजनीतिक दलों को निरंतर अपनी रणनीति पर काम करना पड़ रहा है। अब मतदाता किसके पक्ष में अपना निर्णय सुनाते हैं यह तो मतगणना के बाद ही पता चलेगा। फिलहाल सभी राजनीतिक पार्टियां अपना पसीना बहा रही हैं।
मतदान सोमवार सुबह 9:30 बजे शुरू होगा और सामान्य समय में परिणाम आधी रात से पहले ही सुनिश्चित हो जाते हैं, लेकिन ये सामान्य समय नहीं हैं। इलेक्शन कैनेडा ने रविवार को चेतावनी दी कि लगभग दस लाख विशेष मतपत्रों का मिलान किया जाना है और सभी की गिनती होने में चार दिन लग सकते हैं।