पत्थर मारने पर भैंस का तांडव, पेड़ों पर चढ़कर ग्रामीणों ने बचाई जान, एक की मौत

September 26, 2018

मंदसौर मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक अजीब मामला सामने आया है। यहां एक भैंसको पत्थर मारे जाने की सजा दी गई थी। बीते पंद्रह दिनों से उसे देखकर लोग पत्थर मारने लगते थे। मंगलवार को जैसे ही भैंस को किसी ने एक पत्थर मारा वह बेकाबू हो गई। भैंस के गुस्से को देखकर जान बचाने के लिए गांववाले पेड़ों पर चढ़ गए। हालांकि एक ग्रामीण भैंस के गुस्से का शिकार हो गया और उसकी मौत हो गई। इधर पुलिस ने भैंस को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए हैं। घटना सीतामऊ थाना इलाके के लारनी गांव की है। बताया जा रहा है कि 15 दिन पहले भैंस ने एक महिला पर हमला किया था। गांववालों ने फैसला लिया कि भैंस को दूर रखने के लिए उसे हर कोई देखते ही पत्थर फेंककर मारेगा। मंगलवार को जैसे ही एक आदमी ने उसे देखते ही पत्थर फेंककर मारा। पत्थर लगने पर भैंस बेकाबू हो गई और हर किसी को दौड़ाने लगी। इधर जान बचाने के लिए गांववाले पेड़ों पर चढ़ गए।

इधर गांव के 60 वर्षीय बुजुर्ग लालू बंजारा उधर से गुजर रहे थे। भैंस को देखते ही उन्होंने भागने का प्रयास किया लेकिन भाग नहीं पाए और भैंस ने उन्हें उठाकर पटकना शुरू कर दिया। भैंस ने उन्हें कई बार उठाकर पटका। पेड़ पर चढ़े ग्रामीण तमाशा देखते रहे लेकिन भैंस के गुस्से को देखकर किसी ने भी लालू बंजारा को बचाने का प्रयास नहीं किया। एक गांववाले ने वन विभाग को फोन करके सूचना दी। मौके पर वन विभाग के तीन अधिकारी पहुंचे। तीनों अधिकारियों ने भैंस को काबू करने का प्रयास किया लेकिन अंधेरा होने के कारण भैंस को पकड़ा नहीं जा सका। कुछ लोग पेड़ से उतरकर डरे सहमे वन विभाग की जीप पर चढ़ गए। डेप्युटी रेंजर रघुराज सिंह सिसोदिया ने बताया कि लगभग 15 लोग जीप में चढ़े थे। वहीं कई लोग ऐसे थे जो पेड़ पर चढ़ तो गए थे लेकिन उतर नहीं पा रहे थे। ऐसे लोगों को उतारने के लिए अर्थ मूविंग मशीन मंगाकर नीचे उतारा गया। अधिकारियों ने बताया कि लगभग तीन घंटे बाद लोगों को रेस्क्यू कराया जा सका।