ईरान से भारत के तेल खरीदने पर अमेरिका बौखलाया

October 12, 2018

वॉशिंगटन अमेरिका ने ईरान के खिलाफ चार नंवबर से शुरू हो रहे प्रतिबंधों को नहीं मानने वाले देशों को चेतावनी दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने ऐसे देशों को दो टूक कहा कि अगर प्रतिबंध लागू होने के दिन तक कोई देश ईरान से तेल आयात को जीरो नहीं करेगा तो वॉशिंगटन ऐसे देशों के देख लेगा। बता दें कि भारत ने दो दिन पहले घोषणा की थी कि इसके दो फर्म ईरान से तेल आयात का ऑर्डर किया है। ट्रंप ने इस साल मई में ईरान के साथ अमेरिका के परमाणु संबंधों को तोड़ने की घोषणा की थी। दोनों देशों के बीच 2015 में न्यूक्लियर समझौता हुआ था। ट्रंप से जब भारत और चीन द्वारा ईरान से तेल खरीदने पर सवाल पूछा गया तब ट्रंप ने कहा, ‘हम उनको देख लेंगे।’ बता दें कि पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को कहा था कि देश के दो तेल रिफाइनरी ने नवंबर में ईरान से तेल आयात का ऑर्डर दिया है। प्रधान ने कहा था कि भारत की अपनी ऊर्जा जरूरतों को पूरी करने के लिए ऐसा करना पड़ा है।

ट्रंप ने ईरान के साथ समझौता खत्म करने की घोषणा करने के वक्त कहा था कि यह डील अपने मूल उद्देश्य, ईरान को परमाणु बम हासिल करने से रोकने में सफल नहीं हो पाया था। ट्रंप ने तब कहा था कि इस समझौते ने ईरान को बलिस्टिक मिसाइल बनाने से भी नहीं रोक पाया था। ईरान को नए समझौता मानने को बाध्य करने के लिए ट्रंप ने तेहरान पर कई और प्रतिबंध लागू कर दिए थे। इन प्रतिबंधों के कारण अमेरिकी डॉलर में ईरान सरकार की खरीदारी, गोल्ड में ईरान द्वारा किए जाना वाला ट्रेड और इसके ऑटोमोटिव सेक्टर पर असर पड़ा। चार नवंबर को ईरान पर अमेरिका का दूसरा मजबूत प्रतिबंध लागू होंगे। इससे ईरान के तेल सेक्टर और शिपिंग सेक्टर तथा उसके सेंट्रल बैंक को काफी नुकसान होगा। अमेरिका ने ईरान से तेल खरीदने वाले देशों को चार नवंबर तक आयात जीरो करने को कहा था।